बिजनेस

BHEL का चौथी-तिमाही में मुनाफा 26% घटा,सरकारी कंपनी का शेयर खरीदकर फंस गए निवेशक

नई दिल्ली – भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड यानी BHEL लिमिटेड का वित्त वर्ष 2024 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में मुनाफा सालाना आधार (YoY) पर 26% घटकर ₹489.62 करोड़ रहा। एक साल पहले की समान तिमाही में कंपनी का कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट ₹658.02 करोड़ रहा था।कंपनी ने वित्त वर्ष 2024 के लिए 25 पैसे प्रति शेयर के फाइनल डिविडेंड यानी लाभांश देने का ऐलान किया है। कंपनियां अपने शेयरधारकों को मुनाफे का कुछ हिस्सा देती हैं, उसे डिविडेंड कहते हैं। BHEL ने आज यानी 21 मई को चौथी तिमाही और सालाना नतीजे जारी किए हैं।

आज BHEL में ट्रेडर्स के लिए शॉर्ट करने की राय है और इन्वेस्टर्स के लिए खरीदने की राय बन रही है. स्टॉपलॉस 324 पर है और टारगेट प्राइस 310, 302, 295 पर रखना है. कंपनी के नतीजे अनुमान से कमजोर हैं. कंपनी का एक्जीक्यूशन बहुत कमजोर है. कंपनी का कैशफ्लो भी अभी बहुत मजबूत नहीं है. मजबूत ऑर्डरबुक के बावजूद इनका वर्किंग कैपिटल मैनेजमेंट ढीलाढाला है. गाइडेंस, कॉमेंट्री, ऑर्डरबुक सब अच्छा है, लेकिन प्राइस के हिसाब से देखें तो स्टॉक तीन महीने में 38 पर्सेंट भाग चुका है. एक साल में 300 पर्सेंट रिटर्न दिया है. ऐसे में ट्रेडर्स इसमें शॉर्ट करें. वहीं लंबी अवधि के निवेशक 10 पर्सेंट से ज्यादा गिरे तो खरीदारी करें.

106,307 करोड़ मार्केट कैप वाली भेल (BHEL) का शेयर कल मंगलवार को बीएसई पर 319.20 रुपये के भाव पर बंद हुआ था, जबकि 322.35 का हाई लगाया था. इससे पहले 5 नवम्बर 2007 को 316.30 रुपये का हाई लगाया था. इस हाई के बाद शेयर में काफी गिरावट आई और इसने 23 मार्च 2020 (कोरोना काल) में 19 रुपये का लो बनाया था. मार्च 2020 के बाद अब तक मतलब 4 वर्षों में इस शेयर ने 1580 प्रतिशत का जबरदस्त रिटर्न दिया है.BHEL का वित्त वर्ष 2024 में कंसॉलिडेटेड रेवेन्यू बढ़कर ₹23,892.78 करोड़ हो गया। वित्त वर्ष 2023 में रेवेन्यू ₹23,364.94 करोड़ रहा था। यानी रेवेन्यू में 2.25% की तेजी आई है।

Back to top button