टेक्नोलॉजी

याददाश्त को मजबूत बनाने के लिए खेले ये गेम्स, जो आपके दिमाग को बना देंगे कंप्यूटर जैसा तेज

नई दिल्लीः याददाश्त को बेहतर करने के लिए डॉक्टर और अनुभवी जानकार लोग बहुत सारे उपाय बताते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि याददाश्त को बेहतर करने का एक उपाय गेम भी है. जी हां, आपने सही पढ़ा है. भारत में ऐसे बहुत सारे गेम्स यानी खेल हैं, जिन्हें खेलकर भी लोगों की याददाश्त यानी किसी भी चीज को अधिक से अधिक समय तक याद रखने की क्षमता बढ़ती है.

याददाश्त बेहतर करने वाले बेस्ट गेम्स

पजल्‍स, क्रॉसवर्ड्स, चेस और कई प्रॉब्‍लम सॉल्विंग गेम्‍स ना केवल मन लगाने का जरिया हैं, बल्कि ये आपके दिमाग को स्टिमुलेट करने का काम भी करते हैं. 2014 में हुए एक अध्ययन में यह पाया गया है कि जो बुजुर्ग ब्रेन एक्‍सरसाइज करने वाले गेम्‍स या एक्टिविटीज में शामिल रहे, उनकी तर्क शक्ति और अनुभूति की गति अन्‍य की तुलना में कई गुना अधिक रहती है. यही नहीं, बच्‍चों और युवाओं के ब्रेन के विकास में भी ऐसे गेम्‍स काफी फायदेमंद होते हैं. यहां हम आपको बता रहे हैं कि आप अपने ब्रेन को शार्प रखने के लिए किन माइंड गेम्‍स को अपने दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं.

अंताक्षरी

भारत में रहने वाले लगभग हर इंसान से कभी न कभी इस खेल को जरूर खेला होगा, जिसका नाम अंताक्षरी है. इस खेल में आपको गाने गाने होते हैं. आपके विरोधी ने जो गाना गाया था, उसके आखिरी अक्षर से आपको कोई नया गाना गाना होगा. इस गेम को खेलने से लोगों की याद करने की क्षमता काफी बेहतर होती है.

क्रॉसवर्ड खेलें

फोर्ब्स हेल्‍थ के मुताबिक, इंटरनेशनल न्यूरोसाइकोलॉजी सोसाइटी के जर्नल में एक अध्ययन में पाया गया कि क्रॉसवर्ड पहेली खेलने से डिमेंशिया की संभावना रखने वाले मरीजों की स्मृति में गिरावट को दूर करने में मदद मिलती है. इस तरह अगर आप अपनी याददाश्‍त को बेहतर बनाना चाहते हैं तो इसे खेल सकते हैं.

रिवर्सी गेम

ये एक तरह की बोर्ड गेम है। ऑनलाइन एप्प के जरिए खेली जाने वाली इस गेम में दो प्लेयर एक साथ खेलते है। फर्स्ट प्लेयर आप और सेकिंड प्लेयर कम्प्यूटर होता है। ब्लैक एंड व्हाइट कॉइंस के साथ खेली जाने वाली इस गेम जिसके पास अंत में कॉइन्स ज्यादा रहते हैं, वो ही विनार कहलाता है। दिमाग को मज़बूती प्रदान करने वाले इस खेल को दिन में 15 से 12 मिनट खेलना आपके माइंड को रिलैक्स रखने का काम करता है।

वैदिक गणित

इस लिस्ट में दूसरे गेम का नाम वैदिक गणित है. यह भारत का एक काफी पुराना खेल है, जिसे भारत में युगों पहले प्राचीन काल से खेला जा रहा है. यह खेल भारत की प्राचीन गणित पर आधारित है. इसे खेलने के लिए गेमर्स को ज्यामिती यानी जियोमैट्री और बीजगणित यानी अल्जेब्रा जैसी गणित के टॉपिक का ज्ञान होना जरूरी है.

जिगसॉ पजल्‍स

जिगसॉ पजल (Jigsaw Puzzle) भी ब्रेन को शॉर्प रखने में काफी उपयोगी है. फ्रंटियर्स ऑफ एजिंग न्यूरोसाइंस में 2018 के एक अध्ययन से पता चला है कि यह कई संज्ञानात्मक क्षमताओं को बढ़ाने में मदद कर सकता है और विजुअल मेमोरी को बढ़ा सकता है.

पल्लंगुक्षी

इस लिस्ट में तीसरे गेम का नाम पल्लंगुक्षी है. यह दक्षिण भारत का खेल है. इस गेम की उत्पत्ति भी दक्षिण भारत में ही हुई थी. आपको यह जानकार हैरानी होगी कि इस गेम को आज के आधुनिक दुनिया में भी लकड़ी की बोर्ड और अलसी के बीचों की मदद से खेला जाता है. इस खेल को खेलने वाले लोगों की याददाश्त भी बेहतर होती है.

सिलाई-कढ़ाई

शोधों में यह पाया गया है कि अगर आप बुनाई या सिलाई कढ़ाई आदि करते हैं तो यह स्‍पर्श कौशल से चीजों को याद रखने, क्रम में समझने और उसे याद रखने में मदद कर सकता है. यह आपके समय का उपयोग और क्रिएटिविटी को भी प्रोत्‍साहित करता है.

शतरंज

इस गेम के बारे में तो काफी लोग जानते होंगे. यह भारत और दुनिया का भी एक लोकप्रिय गेम है. इस गेम को खेलने के लिए दिमाग का काफी इस्तेमाल करना पड़ता है. इस खेल के लिए जटिल मानसिक तकनीकों की आवश्यकता होती है. इस कारण इस खेल को खेलने से गेमर्स की याददाश्त काफी मजबूत होती है.

रम्मी

इस लिस्ट में पांचवां नाम रम्मी का है. इस गेम के बारे में भी आपने कई बार सुना होगा. रम्मी और तीन पत्ती जैसे खेल को खेलने में गेमर्स को दिमाग का काफी इस्तेमाल करना पड़ता है और बहुत सारी चीजों को ध्यान में रखना पड़ता है. यह एक कार्ड गेम है और इसमें कार्ड के क्रम से जुड़ी जानकारियों को याद रखने की जरूरत पड़ती है. इस कारण इस गेम को खेलने वाले खिलाड़ियों की याददाश्त भी बेहतर हो जाती है.

कार्ड गेम

अगर आप कार्ड में ब्रीज गेम खेलते हैं तो इससे आप खुद की प्‍लानिंग को याद रखने, उसे फॉलो करने और दिमाग में कॉम्‍प्‍लेक्‍स प्‍वाइंट सिस्‍टम को ध्‍यान में रखने के प्रॉसेस में आते हैं, जिससे संज्ञानात्‍मक क्षमता और याद रखने की क्षमता में विकास होता है.

कुछ नए डांस मूव्स सीखें

डांस आपके फिजिकल फिटनेस को तो ठीक रखने में मदद करता ही है. यह मेमोरी पावर को बढ़ाने में भी मदद कर सकता है. आपको संगीत की गति और उसकी मनोदशा के साथ-साथ अपने साथियों के साथ ता‍लमेल बनाना, अपने बॉडी को लंबे समय तक क्रम से स्‍टेप याद रखना भी जरूरी है. यह स्पर्श, दृश्य, मोटर स्किल और श्रवण क्षमता को भी बढ़ाता है.

Back to top button