भारत

विजय कुमार सिन्हा का लालू यादव पर कड़ा प्रहार

नई दिल्ली – उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा ने दिल्ली में विपक्षी दलों की रैली पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि ये लोकतंत्र को कमजोर करने वाले लोग हैं. राजनीति में सुशासन की बात करते थे. भ्रष्टाचार मुक्त भारत की बात करने वाले आज चतुर राजनीति कर रहे हैं. जो लोग भ्रष्टाचार मुक्त भारत की बात करते थे वे अब भ्रष्टाचार युक्त भारत और जातिवादी राजनीति का संकल्प लेकर एकजुटता दिखा रहे हैं. इन लोगों ने बिहार में संकल्प लिया था कि भारत को भ्रष्टाचार मुक्त बनाएंगे और जातिविहीन समाज बनाएंगे. आज बिहार में जातिगत जहर की लहर फैल रही है. जब न्याय व्यवस्था इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है तो इन्हें चिंता हो रही है. अगर इन्हें संविधान और न्यायालय पर भी भरोसा नहीं है तो फिर ये लोग राजनीति कैसे कर रहे हैं?

राजद अपने नेता और विधानसभा में नेता

विजय सिन्हा ने कहा कि राजद अपने नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को ‘‘राज्य के भविष्य” के रूप में प्रचारित करता है, लेकिन लोग ‘‘वंशवादी राजनीति और भाई-भतीजावाद” को खारिज कर देंगे और उसे चुनेंगे, जो उनके हित में काम करेगा.उपमुख्यमंत्री ने राजद के इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया कि मोदी सरकार भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे विपक्षी नेताओं को अपने पाले में लाने के लिए केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है और जब वे भाजपा में शामिल हो जाते हैं तो उनके ‘‘दाग भाजपा की वॉशिंग मशीन में धुल जाते हैं.”वहीं बिहार के उपमुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘लालू प्रसाद ने भी ऐसी कोशिश की थी. वह भाजपा की मदद से पहली बार (बिहार के) मुख्यमंत्री बने थे. लेकिन, भाजपा ने उन्हें कभी अपनी ‘वॉशिंग मशीन’ में नहीं डाला.” सिन्हा ने कहा, ‘‘चाहे वह (लालू) कितनी भी कोशिश कर लें, उन पर लगा भ्रष्टाचार का दाग कभी नहीं धुल सकता.” उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा हमेशा लोगों को मौका देती है, लेकिन पार्टी कभी भी उन लोगों को मौका नहीं देती, जो दागी और भ्रष्ट हैं तथा समाज में नफरत की भावना पैदा करते हैं। ऐसे लोग कभी भी भाजपा में नहीं रह सकते.”

भ्रष्टाचार का दाग नहीं धुल सकता कभी’

डिप्टी सीएम ने कहा कि चाहे वह (लालू) कितनी भी कोशिश कर लें, उन पर लगा भ्रष्टाचार का दाग कभी नहीं धुल सकता. बीजेपी हमेशा लोगों को मौका देती है, लेकिन पार्टी कभी भी उन लोगों को मौका नहीं देती, जो दागी और भ्रष्ट हैं तथा समाज में नफरत की भावना पैदा करते हैं. ऐसे लोग कभी भी बीजेपी में नहीं रह सकते.बता दें कि राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल के खिलाफ 2017 के भ्रष्टाचार मामले में सीबीआई द्वारा क्लोजर रिपोर्ट दाखिल किया है. इस मामले में सीबीआई क्लीन चिट दे दी है. इस पर विपक्ष जमकर बीजेपी पर निशाना साध रहा है.

Back to top button