लाइफस्टाइल

अजवाइन को करें डाइट में शामिल, ये बीमारियां रहेंगी दूर

नई दिल्लीः अजवाइन के नाम से तो हम सभी अच्छी तरह वाकिफ हैं. खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए अक्सर अजवाइन का इस्तेमाल किया जाता है. अजवाइन की खुशबू भी लोगों के मन को खूब भाती है. आपकी रसोई में मौजूद अजवाइन हेल्थ के लिए बेहद लाभकारी साबित हो सकती है. अजवाइन में कई ऐसे तत्‍व पाए जाते हैं, जो शरीर की कई समस्‍याओं को दूर करने में कारगर होते हैं. अजवाइन में एसेंशियल ऑयल (Essential Oil) भी होता है, जो खाने का स्वाद और फ्लेवर बढ़ाने में मदद करता है. अजवाइन (Ajwain) में प्रोटीन, फैट, फाइटोकेमिकल, फाइबर, कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन और एंटीसेप्टिक, ऐंटीमाइक्रोबियल जैसे औषधीय गुण पाए जाते हैं. अजवाइन का बेहतर फायदा पाने के लिए इसे कई तरह से उपयोग किया जा सकता है. आइए आज हम आपको अजवाइन को उपयोग करने के तरीकों के बारे में बताते हैं.

अजवाइन का इस्तेमाल कई तरह के व्यंजनों को बनाने के लिए किया जाता है. अजवाइन स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी अच्छा होती है. अजवाइन सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है. अजवाइन के पानी को भी आप डाइट में शामिल कर सकते हैं. अजवाइन के पानी को सुबह खाली पेट पीने से सेहत को बहुत से फायदे मिलते हैं.ये पानी वेट लॉस से लेकर इम्युनिटी को बढ़ाने तक सेहत को कई तरह के फायदे पहुंचाता है. अजवाइन में कैल्शियम, फाइबर और पोटैशियम जैसे पोषक तत्व होते हैं. सुबह के समय अजवाइन का पानी पीने से सेहत को कौन से फायदे मिलते हैं यहां जानें.

अजवाइन की प्रशंसा में आयुर्वेद में कहा गया है-“एका यमानी शतमन्न पाचिका” अर्थात अजवाइन में 100 प्रकार के अन्न पचाने की ताकत होती है। इससे हमें पता चलता है कि अजवाइन पाचन क्रिया से संबंधित सभी रोगों में फायदा करता है।अजवाइन में फाइबर होता है. अजवाइन का पानी पीने से पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है. ये डायरिया और कब्ज जैसी समस्या से भी बचाता है. ये पेट से जुड़ी समस्याएं जैसे अपच जैसी कई समस्याओं से भी बचाता है.अजवाइन आपकी किचन में मौजूद छोटा सा मसाला है, जिसका इस्‍तेमाल अक्‍सर हम सब्‍जी का बादीपन दूर करने के लिए करते हैं। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि अजवाइन औषधीय गुणों का भंडार है तभी तो किचन के साथ-साथ आयुर्वेद में भी इसका खूब इस्तेमाल किया जाता है। अजवाइन से ना सिर्फ खाने का टेस्ट बढ़ता है, बल्कि इससे पेट से जुड़ी बीमारि‍यां भी दूर हो जाती हैं।

वेट लॉस के लिए

सुबह के समय अजवाइन का पानी पीसे मेटाबॉलिज्म भी बूस्ट होता है. ये फैट बर्निंग का काम भी करता है. इस पानी को पीने से तेजी से वजन घटाने में भी मदद मिलती है. आप इस पानी को अपनी वेट लॉस डाइट में भी शामिल कर सकते हैं.
अजवाइन पानी: वेबएमडी के अनुसार, वेट लॉस में अजवाइन बेहद फायदेमंद होता है. वजन कम करने के लिए लोग अजवाइन का उपयोग करते हैं. रोजाना अजवाइन पानी पीने से वेट लॉस करने में मदद मिलती है. इसके लिए एक गिलास पानी में एक-दो चम्मच अजवाइन डालकर उबालें. इसके बाद पानी का कलर बदलने पर इसे छानकर पिएं. इससे कुछ हफ्तों में ही अंतर दिखने लगेगा.

अजवाइन की चाय: इंफेक्शन से बचने के लिए अजवाइन की चाय बहुत फायदेमंद होती है. अजवाइन चाय बनाने के लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच अजवाइन और 2 चुटकी हल्दी डालकर उबालें और जब यह उबलकर चाय की तरह बन जाए तो इसका सेवन करें.

ब्लड शुगर लेवल

अजवाइन का पानी पीने से आपको ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में भी मदद मिलती है. अजवाइन में हाई फाइबर होता है. इस पानी को लेने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लें.
अजवाइन को हींग में मिलाएं: पेट से जुड़ी समस्याओं के लिए अजवाइन बेहद फायदेमंद है. अजवाइन को हींग के साथ मिलाकर खाने से पेट संबंधी समस्याओं से निजात मिलती है. पेट में दर्द या ऐंठन होने पर अजवाइन को हींग के साथ मिलाकर खाना चाहिए.

तड़के में करें उपयोग: आमतौर पर लोग जीरा और राई से तड़का लगाते हैं, लेकिन आपको बता दें कि आप अजवाइन को भी तड़का लगाने के लिए प्रयोग में ला सकते हैं. इसके लिए आप तेल गर्म करें और इसमें अजवाइन और लाल मिर्च को फ्राई करें. अब दाल, सब्‍जी आदि को इससे तड़का दें. इससे खाने का स्वाद भी बढ़ जाएगा.
इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए

अजवाइन के पानी में एंटॉऑक्सीडेंट गुण होते हैं. इस पानी में एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण होते हैं. इस पानी को पीने से इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में भी मदद मिलती है. इस पानी को पीने से आपको कई बीमारियों से भी लड़ने में मदद मिलेगी.

मोइन के रूप अजवाइन का प्रयोग: अगर आप समोसा, कचौरी, खस्ता, खुर्मे, पकोड़े आदि बना रहे हैं तो आप अजवाइन का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके लिए जब मैदे का आटा गूंथते हैं तो उस समय चुटकी भर अजवाइन लें और मसलकर डालें और इसके बाद इसे गूंदें. पकोड़े आदि बना रहे हैं तो बैटर तैयार करते समय एक चम्‍मच अजवाइन को मिलाएं. इससे खाने का स्वाद भी बढ़ जाता है.

बैड कोलेस्ट्रॉल कम करता है

अजवाइन के पानी में डाइटरी फाइबर और फैटी एसिड होते हैं. इस पानी को पीने से गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है. इसके साथ ही बैडकोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है.
इंफेक्शन से बचने के लिए

अजवाइन में एंटीमाइक्रोबॉयल और एंटीसेप्टिक जैसे गुण होते हैं. बदलते मौसम में सेहत से जुड़ी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. ऐसे में अजवाइन का पानी पीने से आप मौसमी संक्रमण से भी बच पाते हैं.एक्‍सपर्ट आयुर्वेद फिजिशियन डॉक्‍टर अबरार मुल्तानी का कहना हैं कि ”अजवाइन की तरह ही अगर इसका पानी रोज सुबह खाली पेट पि‍या जाए, तो यह पूरे शरीर के लिए फायदेमंद होता है।”

”अजवाइन में डाइटरी फाइबर, कार्बोहाइड्रेट्, प्रोटीन और कई तरह के मिनरल्स जैसे –फॉस्फोरस, कैल्शियम, आयरन और निकोटिनिक एसिड आदि पाए जाते हैं। इसके अलावा, अजवाइन में थाईमोल होता है जो इसे एक अलग स्वाद और महक प्रदान करता है।””आयुर्वेद के अनुसार, जिन महिलाओं को वात और कफ से जुड़ी समस्याएं होती हैं उन महिलाओं के लिए अजवाइन के पानी का सेवन बहुत फायदेमंद हो सकता है।” अजवाइन के पानी को बनाने के तरीके के बारे में जान लेते हैं।

अजवाइन का पानी बनाने के लिए आप 1 चम्‍मच अजवाइन को 1 गिलास पानी में भिगोकर रात भर के लिए छोड़ दें। फिर अगली सुबह इस पानी को उबालकर छान लें। इस पानी को ठंडा कर लें और खाली पेट सुबह-सुबह इसका सेवन करें।अजवाइन का सेवन फायदेमंद है और इसका पानी पीने से काफी हेल्‍थ संबंधी परेशानियां दूर होती है। खाने का स्वाद बढ़ाने या कफ, सर्दी, पेट दर्द जैसी समस्याओं में हम घरेलू उपचार में अजवाइन का उपयोग करते हैं। अजवाइन में पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। यह प्राचीन औषधी बहुत ही गुणकारी है।

Back to top button