खेल

T20 World Cup में बाल-बाल बची बांग्लादेशी बल्लेबाज की जान,देखें वीडियो

नई दिल्लीः क्रिकेट उन कुछ गिने चुने खेलों में से है, जिसमें खिलाड़ी खुद को बचाने के लिए ग्लव्स, हेलमेट, पैड्स समेत कई तरह के इक्विपमेंट का इस्तेमाल करते हैं. इसकी जरूरत भी होती है क्योंकि जब 140-150 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से 150 ग्राम की सख्त बॉल आती है तो बल्लेबाज इन्हीं सबसे वो चोट से बच पाते हैं. ज्यादातर मौकों पर खिलाड़ी बिना किसी खास परेशानी के सुरक्षित ही रहते हैं लेकिन कई बार उन्हें इसके बावजूद भी चोट लगती है और कभी-कभी कुछ खिलाड़ी बड़े हादसे से बच जाते हैं. बांग्लादेश के बल्लेबाज तन्जीद हसन को ऐसे ही हाल का सामना करना पड़ा, जहां उनके साथ एक बड़ा हादसा होने से बच गया.

खत्म हो सकता था करियर

View this post on Instagram

A post shared by ICC (@icc)

तन्जीद की किस्मत अच्छी थी कि गेंद में ज्यादा रफ्तार भी नहीं थी और वो सिर्फ वाइजर में फंस गई. अगर उनकी आंख में लगती तो उनकी वो हमेशा के लिए डैमेज हो सकती थी और उनका करियर भी खत्म हो सकता था. साउथ अफ्रीका के दिग्गज विकेटकीपर मार्क बाउचर की आंखों में बेल्स लगने से उनका करियर खत्म हो गया था. इंग्लैंड के बल्लेबाज हैरी ब्रूक के हेल्मेट के वाइजर में भी गेंद फंसी थी और वो भी चोट से बचे थे. हालांकि हर कोई ऐसी किस्मत वाला नहीं होता. करीब 10 साल पहले भारतीय पेसर वरुण एरॉन की तेज गेंद इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड के वाइजर में घुस गई थी. तब उनकी नाक में चोट लगी थी और काफी खून बहा था.

बांग्लादेश और नीदरलैंड्स के लिए अहम है ये मैच

ग्रुप-डी के अहम मैच में बांग्लादेश का सामना नीदरलैंड्स से हो रहा है. दोनों टीमें सुपर 8 में की रेस में बनी हुई है. किंग्सटाउन में नीदरलैंड्स के कप्तान स्कॉट एडरवर्ड्स ने टॉस जीतकर बांग्लादेश को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया. शाकिब अल हसन के नाबाद अर्धशतक और तंजिद हसन की उपयोगी पारी की बदौलत बांग्लादेश ने नीदरलैंड्स को 160 रन का टारगेट दिया है. डच टीम की ओर से आर्यन दत्त और पॉल वैन मैकरेन ने दो-दो विकेट चटकाए.बांग्लादेश और नीदरलैंड्स के पास दो-दो अंक हैं. ग्रुप-डी में वे क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं. आज का मैच जीतने वाली टीम सुपर 8 के लिए अपना दावा मजबूत कर लेगी.

बड़ा हादसा टला

दरअसल यह मामला बांग्लादेश की पारी के तीसरे ओवर का है, जब डच टीम के लिए विवियन किंगमा गेंदबाजी करने आए. किंगमा ओवर की पहली 4 गेंदों में 14 रन लुटा चुके थे, लेकिन इस बीच उन्होंने पांचवीं गेंद पर बाउंसर डालने का फैसला लिया. करीब 134 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से शरीर पर आई बाउंसर गेंद पर तंजीद ने पुल शॉट के लिए बल्ला घुमाया, लेकिन गेंद उनके हेल्मेट की ग्रिल के बीच जा फंसी. जब रिप्ले दिखाया गया तो पता चला कि गेंद ने टप्पा खाने के बाद सामान्य से ज्यादा उछाल लिया था.तंजीद ने बिना देरी किए हेल्मेट उतारा और तुरंत मेडिकल टीम भी ग्राउंड पर आ गई थी. प्रोटोकॉल के तहत तंजीद की जांच की गई और उनकी आंखों को भी परखा गया. सौभाग्य से उनको कोई गंभीर चोट नहीं आई और मेडिकल टीम ने उन्हें खेल जारी रखने की अनुमति दी. तंजीद ने इस मैच में 26 गेंद में 35 रन की पारी खेली, जिसके दौरान उन्होंने 5 चौके और एक छक्का भी लगाया.

क्या सब्स्टिट्यूट हो सकता है चोटिल खिलाड़ी?

हालांकि तंजीद हसन को जांच के बाद मेडिकल टीम ने खेल जारी रखने की अनुमति दे दी थी. दूसरी ओर यदि कोई खिलाड़ी मैच खेलने के दौरान चोटिल हो जाता है तो नियमानुसार टीम बेंच पर बैठे खिलाड़ियों में से किसी एक को उस चोटिल प्लेयर से रिप्लेस कर सकती है.

दोनों टीमों की प्लेइंग 11

नीदरलैंड्स की प्लेइंग इलेवन: माइकल लेविट, मैक्स ओ’डॉउड, विक्रमजीत सिंह, साइब्रांड एंगेलब्रेक्ट, स्कॉट एडवर्ड्स (विकेटकीपर/कप्तान), बास डी लीडे, लोगान वैन बीक, टिम प्रिंगल, आर्यन दत्त, पॉल वैन मीकेरेन, विवियन किंग्मा।

बांग्लादेश की प्लेइंग इलेवन: तंजीद हसन, नजमुल हुसैन शान्तो (कप्तान), लिट्टन दास (विकेटकीपर), शाकिब अल हसन, तौहीद हृदोय, महमुदुल्लाह, जकर अली, रिशाद हुसैन, तस्कीन अहमद, तंजीम हसन साकिब, मुस्तफिजुर रहमान।

Back to top button