x
लाइफस्टाइल

राष्ट्रीय डेंगू दिवस की तैयारियों पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग


सरकारी योजना के लिए जुड़े Join Now
खबरें Telegram पर पाने के लिए जुड़े Join Now

मुंबई – राष्ट्रीय डेंगू दिवस की तैयारियों को लेकर सीएमओ ने चिकित्सा अधिकारियों को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में चर्चा की। इसमें जिले के सभी स्वास्थ्य सुविधाओं के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों और चिकित्सा अधिकारियों ने 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस के लिए अंतिम तैयारियों पर बातचीत की।16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस का जिला स्तरीय अभियान रायपुररानी के सीएचसी में आयोजित किया जाएगा और इसमें स्कूलों के साथ साझेदारी में रैलियों सहित व्यापक सामुदायिक भागीदारी होगी। ये रैलियां डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी वेक्टर जनित बीमारियों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए आयोजित की जाएंगी।

कैसे फैलता है डेंगू-

आपको बता दें कि डेंगू मच्छर जनित बीमारी होती है, जो एडीज प्रजाति की संक्रमित मादा मच्छरों के काटने से मनुष्यों में फैलती है, साथ ही ये बेहद गंभीर फ्लू बीमारी मानी जाती है। इस बीमारी के लक्षण मच्छरों के काटने के 5 दिन बाद शरीर में दिखने लगते हैं। मच्छरों से होने वाले वायरल संक्रमण डेंगू भारत के लद्दाख को छोड़कर पूरे देश में ही इसके प्रकोप की खबरें आती रहती है।डेंगू के लक्षणों में मसल्स और ज्वॉइंट्स में पेन, सिर दर्द, बुखार, आंखों में दर्द, चक्कर आना, उल्टी जैसा महसूस होना शामिल है।

मेडिकल ध्यान प्राप्त करने की सलाह

सीएमओ मुक्ता कुमार ने लोगों से अपील की है कि मौजूदा स्वास्थ्य जोखिमों को देखते हुए, जनता को बुखार के लक्षणों की स्थिति में तुरंत निकटतम स्वास्थ्य सुविधा में मेडिकल ध्यान प्राप्त करने की सलाह दी जाती है। डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया का उपचार सभी सिविल अस्पतालों, उप-मंडलीय अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में निःशुल्क प्रदान किया जाता है।पंचकूला जिला सर्वेक्षण अधिकारी डॉ. सुरेश भोसले ने बताया कि अधिकारी ने गर्मी के महीनों में बढ़ने वाली दस्त रोगों के जोखिम को कम करने के लिए एक महत्वपूर्ण संदेश दिया, जिसमें जनता से उच्च स्तर की स्वच्छता बनाए रखने की अपील की। वहीं बासी भोजन नहीं करने की अपील की। उन्होंने गर्मी संबंधित बीमारियों के खिलाफ सतर्कता बढ़ाने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला और सभी स्वास्थ्य सुविधाओं में सुरक्षित पेयजल की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करने के महत्व पर जोर दिया।

Back to top button