Close
भारत

राष्ट्रीय महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्य महर्षि वाल्मीकि के नाम पर एयरपोर्ट बनने पर खुश

नई दिल्ली – सपा के राष्ट्रीय महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि जिन मंदिरों में एक से अधिक पुजारी हैं उन मंदिरों में वाल्मीकि समाज के एक व्यक्ति को पुजारी अवश्य बनाया जाना चाहिए.उन्होंने अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा का नामकरण महर्षि वाल्मीकि के नाम पर किए जाने को स्वागत योग्य कदम बताया.वह शुक्रवार को सुभाष चौक पर संवाददाताओं से सवालों का जवाब दे रहे थे. उन्होंने एक सांसद द्वारा स्वामी प्रसाद मौर्य को आगरा के पागलखाना भेजने वाले बयान पर चुटकी ली। कहा कि वह (सांसद) हो जाएंगे। उन्हें इसका अनुभव होगा.

एयरपोर्ट का नाम महर्षि वाल्मीकि के नाम पर

अयोध्या में बने नए एयरपोर्ट का नाम महर्षि वाल्मीकि के नाम पर रखने के बीजेपी सरकार के फैसले का स्वागत किया है. शुक्रवार को देवरिया पहुंचे स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि महर्षि वाल्मीकि के नाम पर एयरपोर्ट बनाना स्वागत योग्य है. साथ ही उन्होंने कहा कि मंदिर में वाल्मीकि समाज का पुजारी भी बनाया जाए.अयोध्या में 22 जनवरी 2024 को होने वाले श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि अगर प्राण प्रतिष्ठा का आमंत्रण पत्र मिलेगा तो जाने पर विचार करेंगे. उन्होंने कहा कि अच्छा होगा अगर हर मंदिर में वाल्मीकि जी के सम्मान में वाल्मीकि समाज के एक व्यक्ति को पुजारी अवश्य बनाया जाए.

विपक्षी एकता का अभियान चल रहा है

स्वामी प्रसाद मौर्य ने राम नगीना यादव के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला. इसके बाद विपक्षी गठबंधन के उन्होंने कहा कि विपक्षी एकता का अभियान चल रहा है। लेकिन अभी बीएसपी के साथ गठबंधन में आने की दूर-दूर तक कोई चर्चा नहीं है.वैसे अगर सभी विपक्षी पार्टियां एक साथ आ जाए तो यह अच्छी बात होगी.ओम प्रकाश राजभर के बारे में उन्होंने कहा कि राजभर जी कहां है, वह अपना मूल्यांकन करें.वे समाजवादी पार्टी की चिंता न करें। सपा ने राजभर को ज्यादा सीटे दी थी और विधायक भी जीता कर दिए थे. वह मंत्री बनने के लिए जिस तरह दर-दर की ठोकरे खा रहे हैं ,फिलहाल उनका यह सपना पूरा होता नहीं दिख रहा है.

स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान से हल्ला

हाल ही में दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि हिंदू धर्म एक धोखा है. वेसै भी 1995 में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि हिंदू कोई धर्म नहीं है. ये जीवन जीने की एक शैली है. आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत भी दो बार कह चुके हैं कि हिंदू नाम का कोई धर्म नहीं है, बल्कि यह जीवन जीने की एक कला है. स्वामी प्रसाद मौर्य के इस बयान की बीजेपी नेताओं और हिंदू धर्म गुरुओं ने कड़ी आलोचना की है. इस मामले को लेकर बीजेपी ने सपा को भी घेर लिया है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता और यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने इस बयान पर पलटवार करते हुए कहा था कि उनके सनातन विरोधी बयानों से न तो हिंदू धर्म कमजोर होगा और न ही भव्य राम मंदिर का निर्माण रुकेगा.

Back to top button