Big news App
भारतराजनीति

CM योगी आदित्यनाथ को मिली थी बम से उड़ाने की धमकी, ATS में हड़कंप

लखनऊ – उत्तर प्रदेश के गोरखपुर स्थित प्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर में घुसने की नाकाम कोशिश के दौरान पीएसी के दो जवानों पर धारदार हथियार से हमला करने वाले शख्स से पुलिस पूछताछ में जुटी है. इस मामले में गोरखपुर जोन के एडीजी अखिल कुमार ने हर पहलू की बारीकी से छानबीन कर सख्त कार्रवाई की बात कही है. इस हमलावर ने पुलिस की पूछताछ में अपना पूरा नाम अहमद मुर्तजा अब्बासी बताया है, जो कि गोरखपुर के ही सिविल लाइंस में रहने वाले मनीर अहमद का बेटा है. उसका घर अब्बासी नर्सिंग होम के बगल में है. मुर्तजा ने आईआईटी बॉम्बे से केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है.

हमले के बाद एडीजी अखिल कुमार ने बताया कि रविवार की शाम 7 बजे मंदिर के मुख्य द्वार से एक युवक ने जबरन अंदर घुसने की कोशिश की थी. इस दौरान सुरक्षाकर्मियों के रोकने पर युवक ने धारदार हथियार से उन पर हमला बोल दिया. .हालांकि, सुरक्षाकर्मियों ने मुस्तैदी दिखाते हुए घायल होने के बाद भी आरोपी युवक पर काबू पाया. गौरतलब है कि 4 फरवरी को एक के बाद एक तीन ट्वीट कर कई प्रमुख रेलवे स्टेशन, गोरखनाथ मंदिर और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी मिली थी.

ये ट्वीट लेडी डॉन नाम के ट्विटर हैंडल से किया गया था. इस मामले में पुलिस ने केस भी दर्ज किया था और जांच भी शुरू हुई थी, लेकिन आरोपी पकड़ा नहीं गया. इसके बाद मामले को ठन्डे बास्ते में डाल दिया गया. रविवार देर शाम हुए हमले के बाद इसके पीछे आतंकी कनेक्शन की भी जांच शुरू हो गई है. एडीजी ने कहा कि किसी भी एंगल को नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं. खासतौर पर टेरर एंगल को भी रुलआउट नहीं किया जा सकता है. एडीजी ने जोर देकर कहा है की मंदिर परिसर में मुख्यमंत्री आवास भी है. ऐसे में यह एक गंभीर मामला है. जांच के बाद कठोर कार्रवाई की जाएगी. गौरतलब है की हमलावर युवक अहमद मुर्तुजा के पास से हवाई टिकट, लैपटॉप और पैन कार्ड मिला है.

बता दें कि गोरखनाथ मंदिर सुरक्षा के लिए एडिशनल एसपी की तैनाती की गई है। सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी 875 पुलिसकर्मी संभाल रहे हैं। पीएसी जवानों को भी लगाया गया है। गोरखनाथ मंदिर का सुरक्षा घेरा काफी मजबूत किया गया है। एसपी लाल भारत कुमार को मंदिर सुरक्षा प्रभारी के रूप में तैनात किया गया है। मंदिर परिसर में बम निरोधक दस्ता स्थायी तौर पर तैनात है। यहां के सुरक्षा घेरे को मजबूती देने के लिए एक प्लाटून पीएसी भी लगाई गई है। मंदिर परिसर में पुलिस चौकी बनाई गई है। परिसर की सुरक्षा के लिए 875 पुलिसकर्मियों और सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। गोरखनाथ मंदिर परिसर में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती तो है ही गेट पर स्कैनर लगाए गए हैं।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button