लाइफस्टाइल

अपनी सुहाग रात पर भूलकर भी न करे ये गलतियां

मुंबई – शादी का बंधन दो व्यक्तियों का ही नहीं दो परिवारों का भी मिलन होता है। शादी को लेकर लड़का हो या लड़की दोनों ही बेहद उत्साहित रहते है। जिदंगी के कठिन रास्ते पर अपने हमसफर के साथ कदम बढ़ाते हुए एक नई जिंदगी की शुरूआत हर कोई समझदारी के साथ करना चाहता है। हर कपल के लिए शादी की पहली रात बेहद खास होती है। हर कपल को जिंदगी भर ये हसीन पल याद रहता है।

पहली रात को उसके साथ कई बार ऐसा कुछ हो जाता है, जो कपल के लिए जीवनभर की कड़वी याद बनकर रह जाता है। इस घटना का असर उन दोनों की पूरी जिंदगी पर रहता है।

कमरे में रखें मेडिकल किट :
नींद पूरी न होने और तनाव की वजह से कई बार कमरे में पहुंचने पर दूल्हे या दुल्हन की तबियत भी खराब हो जाती है। उस दौरान पास के कमरे में सो रहे परिवार के लोगों से दवाई मांगना या मेडिकल स्टोर पर जाना बड़ा अजीब लगता है। जिसके चलते उन्हें पूरी रात परेशानी में गुजारनी पड़ जाती है। आपके साथ ऐसी दिक्कत न हो जाए, इससे बचने के लिए आप कमरे में एक मेडिकल किट जरूर रखें। जिससे आपकी पहली रात हसीन बन जाए।

फिगर के बारे में सोचना :
पहली रात को हरेक दुल्हन की पहली चिंता यह होती है कि उसका फिगर पति को मन भाएगा या नहीं। उसकी ड्रेस और ज्वैलरी से पति कितना खुश होगा। दिनभर यह बात सोचते-सोचते और थकान की वजह से दुल्हन कई बार ओवर एंजाइटी का शिकार हो जाती है। जिसका असर कपल की फर्स्ट नाइट पर पड़ता है। ऐसे में कमरे में पहुंचने के बाद आप इन सब चीजों के बारे में सोचना छोड़ दें और खुशनुमा पलों को भरपूर जिएं।

अरेंज मैरिज है तो पास्ट न पूछें :
अगर आपकी अरेंज मैरिज हुई है तो अपने जीवनसाथी से शादी की पहली ही रात उसका पास्ट पूछने की गलती न करें। एक दूसरे के पास्ट में नहीं अपना भविष्य एक दूसरे के वर्तमान में तलाश करने की कोशिश करें। ऐसा करके आप अपने पार्टनर की फीलिंग्स को चोट पहुंचा सकते है।

पत्नी से न करें जबरदस्ती :
पहली रात इंटिमेसी की चाहत रखना गलत नहीं है। लेकिन अगर उस दिन कपल में किसी एक की भी तबियत ठीक नहीं है और उसके बाद भी जबरदस्ती की जाती है तो पार्टनर के मन में साथी के प्रति एक गलत धारणा बन जाती है। इसलिए उस रात ऐसी जल्दबाजी दिखाने से बचना चाहिए। इसके बजाय पहली रात को दोनों आपस में खूब बात करें और एक-दूसरे के समझने की कोशिश करें।

रिश्तेदारों की बुराई न करें :
पहली रात को आप भूलकर भी अपने जीवनसाथी या उनके परिवार के प्रति कोई भी गलत बात न कहें। इसका असर दोनों के वैवाहिक रिश्तों पर पड़ता है और उनका जीवन बर्बाद हो जाता है। इसके बजाय आप एक-दूसरे की तारीफ करें और अपने भावी जीवन के बारे में बात करें। ऐसा करने से दोनों के बीच भरोसे और इज्जत का रिश्ता बनेगा। जिसके बाद मैरिड लाइफ और बेहतर हो जाएगी।

शराब का सेवन न करें :
कुछ युवकों की सोच होती है कि अगर वे सुहागरात के दिन शराब का सेवन कर लेंगे, तो उनके भीतर जोश पैदा हो जाएगा। शराब की गंध और बहके हुए व्यवहार से आप अपने जीवनसाथी के दिल को ठेस पहुंचा सकते है।

शादी सिर्फ दो जिस्मों का ही मिलन नहीं :
सुहागरात सिर्फ दो जिस्मों का ही मिलन नहीं है। यह वो सुनहरा अवसर है, जब दो लोग एक-दूसरे को भावनात्मक तौर पर भी समझने की ईमानदार कोशिश करते है। अपने रिश्ते को थोड़ा समय दें और पार्टनर से सबसे पहले उसकी पसंद-नापसंद को जानने की कोशिश करें, उसके साथ जोर-जबरदस्ती कतई न करें।

Back to top button