Big news App
भारतराजनीति

कांग्रेस की बड़ी मांग, गृह मंत्री अमित शाह इस्तीफा दें, पीएम मोदी की भूमिका की हो जांच

नई दिल्ली – इजरायली एजेंसी ‘एनएसओ’ के स्पाइवेयर पेगासस का उपयोग कर विपक्षी दलों, कार्यकर्ताओं और पत्रकारों के फोन की कथित जासूसी की रिपोर्ट पर कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाया और उनकी भूमिका की जांच करने की मांग की है। इसके अलावा कांग्रेस ने यह भी कहा कि गृह मंत्री अमित शाह को इस्तीफा देना चाहिए। कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने इस मुद्दे पर सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि नरेंद्र मोदी डिजिटल इंडिया की बात करते हैं, लेकिन वे इसे ‘सर्विलांस इंडिया’ बना रहे हैं।

चौधरी ने कहा- पीएम मोदी के खिलाफ जो भी आवाज उठाने की हिम्मत करता है, उसके खिलाफ पेगासस का इस्तेमाल किया जाता है। राहुल गांधी कहते हैं कि हम बीजेपी से नहीं डरते हैं, इसलिए उनके खिलाफ भी जासूसी हो रही है। हम लोकसभा के अंदर जोर-शोर से इस मुद्दे को उठाएंगे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्यसभा सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि बीजेपी, ‘भारतीय जासूसी पार्टी’ है. उन्होंने कहा, “विरोधी पार्टियों के नेताओं, पत्रकारों और खुद के मंत्रियों का जासूसी करना. राहुल गांधी की भी जासूसी की गई है। उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर आप लोकतंत्र में भरोसा करते हैं तो गृह मंत्री अमित शाह को इस्तीफा देना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जांच होनी चाहिए।”

वहीं कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार खुद ही इजरायली स्पाइवेयर पेगासस के जरिए यह नृशंस कार्य कर रही है। उन्होंने कहा, “यह स्पाइवेयर बिना आपकी मर्जी के बिना आपके स्मार्टफोन के कैमरा, ऑडियो, आपकी बातचीत को हैक कर लेता है। आपकी बेटी, आपकी पत्नी के फोन के अंदर सरकार यह स्पाइवेयर डाल सकती है। आप बेडरूम के अंदर क्या बात कर रहे हैं, पेगासस डालकर वो सब अब मोदी सरकार सुन सकती है। अगर यह राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ नहीं तो क्या है?”

उन्होंने सवाल उठाया कि भारत में विपक्ष के नेता राहुल गांधी, चुनाव आयोग, खुद के मंत्रियों और पत्रकारों की जासूसी करवाना देशद्रोह नहीं तो और क्या है? भारत ने पेगासस सॉफ्टवेयर कब खरीदा और इस पर कितने पैसे खर्च किए गए? देश में आंतरिक सुरक्षा की जिम्मेवारी अमित शाह की है तो उन्हें इस्तीफा नहीं देना चाहिए? और इस मामले में प्रधानमंत्री की भूमिका की जांच नहीं होनी चाहिए?

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button