भारत

NEET परीक्षा नहीं होगी रद्द,धर्मेंद्र प्रधान का बड़ा बयान

नई दिल्ली – यूजीसी नेट परीक्षा रद्द हो चुकी है. इससे पहले NEET परीक्षा को लेकर धांधली की बात सामने आई थी. इस मामले पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बीते दिनों कहा था कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी में बदलाव की जरूरत है और एनटीए के आरोपी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इस बीच अब धर्मेद्र प्रधान ने गुरुवार की शाम 7 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस की. प्रेस कॉन्फ्रेंस में धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि हम किसी भी तरह के सुधार के लिए तैयार है. पेपरलीक से जुड़ी अफवाहों को न फैलाया जाए.उन्होंने कहा कि हम सभी के सामने चिंताजनक विषय आया है. मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि सरकार छात्रों की हितों को सुरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है.

दोषियों को नहीं बक्शा जाएगा

प्रेसवार्ता में शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि गड़बड़ी की छिटपुट घटनाओं से उन लाखों विद्यार्थियों पर असर नहीं पड़ना चाहिए, जिन्होंने सही तरीके से परीक्षा पास की है. प्रधान ने कहा कि राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के कामकाज की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय समिति बनाई जाएगी. उन्होंने विपक्षी दलों से इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करने की अपील की और कहा कि एनटीए के अधिकारियों सहित दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. शिक्षा मंत्री की ओर से कहा गया कि एनटीए की कार्यप्रणाली की समीक्षा और सुधार के लिए उच्च स्तरीय समिति का गठन जल्द ही कर दिया जाएगा.

नीट परीक्षा को रद्द नहीं करने का जवाब

उन्होंने कहा कि बिहार सरकार इस मामले की जांच कर रही है. जांच के बाद जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाही की जाएगी. नेट की तरह नीट परीक्षा को रद्द नहीं करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस परीक्षा की रिजल्ट आ चुका है और लाखों बच्चों ने कड़ी मेहनत के बाद इस एग्जाम को दिया है. परीक्षा रद्द करने से मेधावी छात्रों के साथ अन्याय होगा.उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. लाखों बच्चे इस एग्जाम में बैठे हैं. उनके साथ न्याय हो, इसके लिए सरकार प्रतिबद्ध है. केंद्रीय शिक्षा मंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले बिहार के उपमुख्यमंत्री विजय कुमार सिन्हा ने इस प्रकरण को लेकर राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव पर गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव के निजी सचिव प्रीतम ने पेपर लीक मामले में सामने आ रहे सिंकदर यादव के ठहरने के लिए गेस्ट हाउस बुक कराया था.

डार्कनेट पर लीक हुआ था पेपर

शिक्षा मंत्री ने बताया कि यूजीसी नेट परीक्षा का पेपर डार्कनेट पर लीक हो गया था, इसलिए परीक्षा रद्द कर दी गई है. सरकार किसी भी प्रकार की अनियमितता या कदाचार को बर्दाश्त नहीं करेगी. इस परीक्षा में 67 विद्यार्थियों ने शत प्रतिशत अंक प्राप्त किए, जो एनटीए के इतिहास में अप्रत्याशित है. नीट-यूजी परीक्षा देश भर के सरकारी और निजी संस्थानों में एमबीबीएस, बीडीएस, आयुष और अन्य संबंधित पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए एनटीए द्वारा आयोजित की जाती है.

Back to top button