टेक्नोलॉजी

30 हजार मोबाइल नंबर होंगे बंद,KYC स्कैम बना वजह

नई दिल्ली – बढ़ते साइबर खतरे को रोकने के लिए दूरसंचार विभाग (DoT) ने पूरे भारत में 392 मोबाइल हैंडसेट ब्लॉक करने का निर्देश दिया है।इन हैंडसेट की पहचान बिजली केवाईसी अपडेट घोटाले में इस्तेमाल होने के रूप में की गई थी। इस स्कैम को करने के लिए धोखेबाज SMS और WhatsApp के जरिए लोगों से बिजली विभाग के अधिकारी बनकर संपर्क करते हैं।इन मैसेज में यूजर्स से कहा जाता है कि वे अपनी KYC (Know Your Customer) डिटेल को अपडेट करें।ऐसा नहीं करने पर घर की बिजली काट दी जाएगी।

इस तरह से स्कैमर्स बिछाते हैं जाल

इस नए स्कैम में स्कैमर्स ने लोगों को इन ब्लॉक हुए मोबाइल हैंडसेट से SMS या WhatsApp के जरिए मैसेज भेजे, जिसमें यूजर्स से अपना नाम, मोबाइल नंबर आदि की जानकारी KYC अपडेट करने के लिए कहा गया। ऐसा नहीं करने पर कनेक्शन काटने की बात कही गई। स्कैमर्स द्वारा भेजे गए मैसेज में लिंक दिए गए थे, जिस पर क्लिक करने के बाद ये डिटेल्स स्कैमर्स तक पहुंच जाते हैं। ऐसा करके स्कैमर्स के पास लोगों की निजी जानकारियों का एक्सेस हो जाता है और फिर इन डिटेल्स का इस्तेमाल फ्रॉड करने के लिए किया जाता है।DoT ने लोगों की तरफ से नए Chakshu पोर्टल पर मिली शिकायतों के आधार पर यह ऐक्शन लिया है। दूरसंचार विभाग को जांच में 392 मोबाइल हैंडसेट के साथ 31,740 से ज्यादा मोबाइल नंबर इस स्कैम में मिले हैं। इसके बाद दूरसंचार विभाग ने टेलीकॉम ऑपरेटर्स को इन SIM कार्ड को ब्लॉक करने के आदेश जारी किया है।

स्कैम से बचने के लिए क्या करें?

कभी भी किसी को अपनी निजी जानकारियां जैसे कि नाम, पता, बैंक अकाउंट नंबर, आधार कार्ड नंबर आदि शेयर न करें।किसी भी मैसेज में आने वाले डॉक्यूमेंट और लिंक को ओपन न करें। न ही फाइल डाउनलोड करें और न लिंक पर क्लिक करें।
इसके अलावा किसी भी कॉल या मैसेज पर धमकी मिलने या फिर प्राइज मनी, ऑफर आदि का लालच देने पर स्कैमर्स के जाल में न फंसें।

Back to top button