खेल

दो साल के बाद स्मृति मंधाना ने जड़ा शतक,बनाया नया रिकॉर्ड

नई दिल्लीः साउथ अफ्रीका की विमेंस टीम इस समय भारत के दौरे पर है। भारत में उन्हें तीन मैचों की वनडे सीरीज, एक टेस्ट और तीन टी 20 सीरीज खेलनी हैं। इस दौरे का पहला वनडे मैच बेंगलुरु में खेला जा रहा है। वनडे सीरीज के पहले मैच में इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया है। इस मैच के साथ ही भारतीय महिला टीम ने 2025 में होने वाले वर्ल्ड कप की तैयारी शुरू कर दी है।

पिछले दो सालों में वनडे में पहला शतक

साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले ही मैच में टीम इंडिया की स्टार सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने अपने करियर का छठा शतक जड़ दिया है। ये साउथ अफ्रीका के खिलाफ उनका दूसरा शतक है। उन्होंने 7 फरवरी 2018 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ शतक अपना पहला शतक बनाया था। इस दौरान उन्होंने 135 रनों की पारी खेली थी। इसके अलावा ये स्मृति मंधाना का पिछले दो सालों में वनडे में पहला शतक है।

117 रन की खेली शानदार पारी

साउथ अफ्रीका के खिलाफ 127 गेंदों में 117 रन की पारी खेली है। अपनी इस पारी के दौरान उन्होंने 12 चौके और 1 छक्का लगाया। उनकी इस पारी की दम पर भारतीय टीम ने 265 रन बनाए। उनके अलावा दीप्ति शर्मा ने 37 और पूजा ने नाबाद 37 रन की पारी खेली।

वेस्टइंडीज के खिलाफ आया था आखिरी वनडे शतक

स्मृति मंधाना ने आखिरी अंतरराष्ट्रीय शतक आईसीसी वनडे विश्व कप 2022 के दौरान वेस्टइंडीज के खिलाफ बनाया था। पिछले दो सालों ने उन्होंने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में लगातार रन बनाए हैं, लेकिन वो शतक बनाने से चूक गई थी।अपनी इस पारी के दौरान स्मृति मंधाना पूर्व कप्तान मिताली राज (10,868 रन) के बाद 7,000 अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाली दूसरी भारतीय महिला क्रिकेटर बन गईं। इसके अलावा वो इंडियन विमेंस टीम की तरफ से सबसे ज्यादा शतक लगाने वाली एक्टिव खिलाड़ी बन गई है। उन्होंने हरमनप्रीत कौर को भी पीछे छोड़ दिया है।

ऐसा रहा भारतीय बल्लेबाजों का हाल

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया की शुरूआत अच्छी नहीं रही. ओपनर शेफाली वर्मा 12 गेंदों पर 7 रन बनाकर आउट हो गई. उस वक्त भारत का स्कोर 15 रन था. इसके बाद टीम इंडिया को दूसरा झटका 32 रनों के स्कोर पर लगा. दायालन हेमलाथा 16 गेंदों पर 12 रन बनाकर पवैलियन लौट गई. भारतीय टीम का तीसरा विकेट 55 रनों के स्कोर पर गिरा. जब भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर 11 गेंदों पर 10 रन बनाकर पवैलियन का रूख कर गई. भारतीय फैंस को जेमिमा रॉड्रिग्स से काफी उम्मीदें थी, लेकिन इस बल्लेबाज ने निराश किया. जेमिमा रॉड्रिग्स 28 गेंदों पर 17 रन बनाकर आउट हुई.

स्मृति मंधाना ने खेली शानदार पारी

दीप्ति शर्मा ने 48 गेंदों पर 37 रनों का योगदान दिया. लेकिन इसके अलावा भारतीय टीम के अधिकतर बल्लेबाज सस्ते में पवैलियन लौट गए. शेफाली वर्मा के अलावा दयालन हेमलथा, हरमनप्रीत कौर, जेमिमा रॉड्रिग्स और ऋचा घोष जैसे बल्लेबाजों ने निराश किया. हालांकि, पूजा वस्त्राकर ने आखिरी ओवरों में 42 गेंदों पर 31 रनों की छोटी लेकिन अहम पारी खेली.साउथ अफ्रीकी गेंदबाजों की बात करें तो आयाबोंगा खाखा सबसे कामयाब गेंदबाज रही. आयाबोंगा खाखा ने 10 ओवर में 47 रन देकर 3 विकेट झटके. सबाता कलास को 2 कामयाबी मिली. इसके अलावा अन्नेरी डेर्कसेन और नोंदुमिसो शेंगेज ने 1-1 विकेट अपने नाम किया.

मंधाना का भारत में पहला वनडे शतक

यह मंधाना का अपने घर में पहला वनडे शतक भी है। इससे पहले पांच शतक उन्होंने विदेशी जमीन पर लगाए हैं। मंधाना ने वनडे करियर का पहला शतक 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगाया था। इसके बाद दूसरा वनडे शतक उन्होंने 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ जड़ा था। वनडे करियर का तीसरा शतक स्मृति मंधाना ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2018 में लगाया था। वहीं, अपना चौथा वनडे शतक मंधाना ने 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ लगाया था। मंधाना ने वनडे करियर का पांचवां शतक वेस्टइंडीज के खिलाफ 2022 में लगाया था। यानी वह वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे में दो-दो शतक जड़ चुकी हैं। 2018 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मंधाना ने 129 गेंद में 14 चौके और एक छक्के की मदद से 135 रन की पारी खेली थी। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 104.65 का रहा था।

Back to top button