बिजनेस

बड़ा IPO लेकर आ रही Hyundai, जुटाएगी 25,000 करोड़ रुपये

नई दिल्ली – ऑटो सेक्‍टर की दिग्‍गज कंपनी हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड देश का सबसे बड़ा आईपीओ लाने जा रही है. दक्षिण कोरिया की ऑटोमोबाइल कंपनी हुंडई मोटर कंपनी की भारतीय शाखा हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड ने आईपीओ लाने के लिए मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) के पास ड्राफ्ट पेपर जमा कर दिया है.

IPO मार्केट में पुराने सभी रिकॉर्ड टूटने जा रहे हैं,दरअसल, हुंडई मोटर्स इंडिया देश का सबसे बड़ा आईपीओ लाने जा रही है. मिली जानकारी के अनुसार, हुंडई मोटर्स इंडिया लिमिटेड की ओर से शनिवार को भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास 25,000 करोड़ रुपये (करीब 3 अरब डॉलर) का आईपीओ लाने के लिए ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी) जमा कराया गया। अब तक देश का सबसे बड़ा आईपीओ होगा. इससे पहले यह रिकॉर्ड एलआईसी के नाम था। LIC ने साल 2022 में 2.7 अरब डॉलर जुटाने के लिए आईपीओ पेश किया था.हुंदै का आईपीओ भारतीय उद्योग के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होगा.मारुति सुजुकी के वर्ष 2003 में सूचीबद्ध होने के बाद हुंदै प्रारंभिक शेयर बिक्री की पेशकश करने वाली पहली वाहन विनिर्माता कंपनी होगी.इसी सप्ताह इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन कंपनी ओला इलेक्ट्रिक को आईपीओ लाने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी की मंजूरी मिली है.एचएमआईएल ने भारत में 1996 में परिचालन शुरू किया था और वर्तमान में वह विभिन्न खंडों में 13 मॉडल बेचती है.

हुंडई मोटर इंडिया का आईपीओ पूरी तरह से ऑफर फॉर सेल (OFS) है.सेबी के पास जमा ड्रॉफ्ट पेपर के मुताबिक, कंपनी आईपीओ के तहत नए शेयर जारी नहीं करेगी.यह भारत में किसी ऑटो कंपनी का 20 साल से ज्यादा समय में पहला आईपीओ होगा. इससे पहले देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी का आईपीओ 2003 में आया था.आईपीओ कीमत हुंडई के ड्राफ्ट प्रॉस्पेक्टस में आईपीओ की कीमत या कंपनी के वैल्यूएशन का विवरण नहीं है. हालांकि, मीडिया रिपोर्टों से पता चलता है कि आईपीओ से कंपनी 25,000 करोड़ रुपये (करीब 3 अरब डॉलर) जुटाना चाहती है.

ये इश्यू पूरी तरह से ऑफर फॉर सेल का इश्यू होगा. जिसके तहत प्रमोटर 10 रुपये के फेस वैल्यू वाले 14.2 करोड़ शेयरों की बिक्री करेंगे. वहीं सूत्रों ने जानकारी दी कि अगर जरूरी हुआ तो कंपनी प्री-आईपीओ राउंड पर भी विचार कर सकती है. पैसेंजर व्हीकल सेल्स वॉल्यूम के आधार पर कंपनी वित्त वर्ष 2024 में मारुति सुजूकी के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है. मारुति सुजूकी का मार्केट कैप 48 अरब डॉलर के करीब है. वहीं सूत्रों के मुताबिक आईपीओ के जरिए ह्यूंडई मोटर इंडिया 18 से 20 अरब डॉलर के बीच वैल्यूएशन पाने का लक्ष्य लेकर चल रही है.

हाल में आई खबरों के अनुसार कंपनी अपने कारोबार के विस्तार पर फोकस कर रही है. इसके साथ ही ईवी और बैटरी निर्माण और रिसर्च पर पर निवेश की योजना है. ह्यूंडई इंडिया की फिलहाल 8.25 लाख यूनिट के निर्माण की क्षमता है और कंपनी इसे बढ़ाकर 10 लाख करने पर विचार कर रही है. कंपनी की भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने के लिए बड़ी योजना है और कंपनी 26 हजार करोड़ के निवेश प्लान का एलान भी कर चुकी है. कंपनी भारत में आज से 27 साल पहले आई थी. फिलहाल कंपनी देश की टॉप 3 कार कंपनियों में शामिल है और बाजार में 15 फीसदी की हिस्सेदारी है. कंपनी के पास देश की कुछ सबसे सफल एसयूवी है जिसमें Tucson, Creta, Venue और Exter शामिल है.

Back to top button