Big news App
रूस यूक्रेन युद्धविश्व

पुतिन के करीबी मेजर जनरल आंद्रेई सिमोनोव की मौत का यूक्रेन ने किया दावा, वालेरी गेरासिमोव घायल

यूक्रेन: रूस-यूक्रेन युद्ध के 67वें और 68वें दिन रूसी सेना को दो बड़े झटके लगे हैं। एक तरफ रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के करीबी सैन्य प्रमुख जनरल वालेरी गेरासिमोव सोमवार को घायल हुए हैं और दूसरी तरफ यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के सलाहकार एरेस्टोविच ने दावा किया है कि रविवार को खारकीव के मोर्चे पर रूसी मेजर जनरल आंद्रेई सिमोनोव की मौत हो गई है।

दावा है कि रूसी सेना के घायल हुए शीर्ष कमांडर वालेरी को जंग के मैदान से बाहर हेलीकॉप्टर से बेलगॉरॉड ले जाया गया है। उन्हें पुतिन ने खासतौर पर दोनबास और पूर्वी क्षेत्र में युद्ध की कमान अपने हाथ में लेने के लिए यूक्रेन भेजा था। 66 वर्षीय वालेरी गेरासिमोव यूक्रेन के खारकीव क्षेत्र के ईज्यूम शहर में घायल हुए हैं जो भीषण जंग का केंद्र है। दोनेस्क के स्वावियांस्क शहर में हमले का नेतृत्व करते हुए उनके दल के तीन सैनिक भी मारे गए। मरने वालों में रूसी मेजर जनरल आंद्रेई सिमोनोव की मौत का दावा किया गया। इस तरह अब तक यूक्रेन युद्ध में रूस के 9 शीर्ष कमांडर मारे जा चुके हैं।

आगामी 9 मई को रूस अपना विजय दिवस मनाता है। इस मौके पर रूस में जश्न मनाया जाएगा और इस दिन से पूर्व रूस किसी भी सूरत में यूक्रेन को लेकर बड़ा एलान कर सकता है। रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने चेतावनी दी है कि हम विजय दिवस को देखते हुए यूक्रेन में सैन्य कार्रवाई में कोई बदलाव नहीं करेंगे। हमारी सेना हमले जारी रखेगी। इस बीच, ब्रिटेन के रक्षामंत्री बेन वॉलेस ने जानकारी दी है कि पुतिन 9 मई को रूस के विजय दिवस परेड का इस्तेमाल यूक्रेन के खिलाफ अंतिम लड़ाई में अपने भंडार को बढ़ाने की घोषणा करने के लिए कर सकते हैं।

यूक्रेन में सोशल मीडिया पर ‘घोस्ट ऑफ कीव’ के नाम से मशहूर एक लड़ाकू पायलट के किस्से सिर्फ काल्पनिक कहानियां हैं। यूक्रेनी वायुसेना ने बताया कि इस पायलट से जुड़ी कहानियां मनगढ़ंत हैं। दरअसल, रूसी हमले के बाद से इस पायलट के किस्से सोशल मीडिया पर काफी चर्चित हुए जिसमें दावा किया जा रहा था कि इस जांबाज पायलट ने कई रूसी विमानों को मार गिराया है। वायुसेना ने बताया कि मेजर स्टेपन ताराबल्का एक असली पायलट थे जिनका निधन 13 मार्च को युद्ध के मैदान में हो गया था। वह ‘घोस्ट ऑफ कीव’ नहीं थे। उन्हें ‘यूक्रेन के हीरो’ की उपाधि से सम्मानित किया गया था।

यूक्रेन के बंदरगाह शहर ओडेसा में अमेरिका और यूरोपीय देशों से आई हथियारों की खेप को रूसी मिसाइलों ने निशाना बनाया है। इसी के साथ ओडेसा के पास स्थित सैन्य हवाई पट्टी को भी नष्ट कर दिया गया है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया कि हमले में उच्च क्षमता वाली ओनिक्स मिसाइलें इस्तेमाल में लाई गईं। मंत्रालय ने बताया कि खारकीव में रूसी रक्षा प्रणाली ने हमले के मकसद से आए यूक्रेनी वायुसेना के दो सुखोई-24 लड़ाकू विमान मार गिराए।

रूसी सैनिकों के घेरे वाले मैरियूपोल के अजोवस्टाल स्टील संयंत्र से 100 नागरिक निकाले और वे नजदीकी शहर जपोरीझिया पहुंच गए हैं। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने इसके लिए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटतोनियो गुटेरस का आभार जताया है।

रूसी राष्ट्रपति कैंसर पीड़ित हैं और जल्द ही उनका ऑपरेशन होना है। इसके चलते उन्होंने यूक्रेन युद्ध की समीक्षा और दिशानिर्देश की जिम्मेदारी अपने पुराने सहयोगी और खुफिया संगठन एफएसबी के पूर्व प्रमुख निकोलाई पत्रुशेव को सौंप दी है। यह दावा रूसी राष्ट्रपति कार्यालय के खास अफसर ने किया है।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button