Big news App
कोरोनाभारत

कोरोना की दूसरी लहर को कैसे रोका जाए? AIIMS चीफ डॉ रणदीप गुलेरिया ने बताया

नई दिल्ली – देश में कोरोना के मामलों में उछाल लगातार जारी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1,31,968 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान करीब 61,899 मरीज डिस्चार्ज हुए हैं, वहीं कोरोना के चलते 780 लोगों ने जान भी गंवाई है। नए मामलों के साथ ही कोरोना संक्रमण का आंकड़ा बढ़कर 1,30,60,542 पर पहुंच गया है। वहीं रिकवर हुए मामलों की संख्या भी बढ़कर 1,19,13,292 हो गई है। देश में एक्टिव मामलों की संख्या 9,79,608 है। वहीं मौतों का आंकड़ा भी बढ़कर 1,67,642 पर पहुंच गया है।

देश में कोरोना की दूसरी लहर पहले से भी ज्यादा भयानक है। इससे बचने के लिए क्या उपाय करना चाहिए, क्या वैक्सीन लगाने के बाद हम संक्रमण से बच सकते हैं? इसपर एम्स चीफ डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि डॉ रणदीप गुलेरिया का कहना है कि लोगों की लापरवाही की वजह से कोरोना केस दोबारा बढ़ रहे हैं, उन्हें कोरोना नियमों का पालन करना होगा।

एम्स चीफ डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कोरोना केस बढ़ने के कई कारण हैं। एक अहम कारण ये है कि जब कोरोना केस कम हुए थे और वैक्सीन लगना शुरू हुई थी तो बहुत लोगों ने ये सोचा कि कोविड अब खत्म हो गया है, मास्क लगाने की जरूरत नहीं है, सोशल डिस्टेंसिंग की जरूरत नहीं है. उन्होंने पार्टियां करना शुरू कर दी। लेकिन, वायरस कहीं गया नहीं था, वायरस यहीं था।

डॉ गुलेरिया ने कहा की कोरोना को रोकने के लिए कई काम साथ-साथ करने होंगे। एक तरफ सख्ती करनी होगी कि सभी लोग नियमों का पालन करें। दूसरी ओर पहले की तरह संक्रमितों और उनके संपर्क में आने वाले लोगों को आइसोलेट करना होगा। ज्यादा केस वाले एरिया को कंटेंमेंट जोन बनाना होगा। उस एरिया में एक टाइम का लॉकडाउन लगा सकते हैं ताकि वहां से कोई बाहर न जा पाए। उस एरिया के सभी लोगों का टेस्ट भी होना चाहिए। इसके साथ-साथ वैक्सीनेशन भी बढ़ाने की जरूरत है। लोगों को भी बाहर जाना कम करना होगा। तभी हमारे केस कम हो पाएंगे।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button