Big news App
बिजनेस

ICICI बैंक से लोन लेना हुआ महंगा,रेपो रेट की असर

नई दिल्ली – आरबीआई के इस फैसले के बाद अनुमान के मुताबिक बैंकों ने भी ब्याज दरों में बढ़ोतरी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में प्राइवेट सेक्टर के ICICI बैंक ने लेंडिंग रेट यानी उधारी दर में 50 बेसिस प्वाइंट का इजाफा किया है। देश के दूसरे सबसे बड़े प्राइवेट बैंक ने लेंडिंग रेट को 50 बेसिस प्वाइंट बढ़ाकर 8.60% कर दिया है। लेंडिंग रेट की नई दरें 8 जून 2022 से प्रभावी रहेंगी।

पीएनबी का एक वर्षीय एमसीएलआर 7.25 प्रतिशत से बढ़कर 7.40 प्रतिशत हो गया है। बैंक के अधिकांश कर्ज एमसीएलआर पर ही आधारित होते हैं लिहाजा उन कर्जों की किस्तें भी अब बढ़ जाएंगी। इसी तरह एक दिन, एक महीना और तीन महीना वाला एमसीएलआर 0.15 प्रतिशत बढ़कर क्रमशः 6.75 प्रतिशत, 6.80 प्रतिशत और 6.90 प्रतिशत हो गया है। वहीं छह महीने का एमसीएलआर बढ़कर 7.10 प्रतिशत हो गया है। इसी के साथ तीन वर्षीय एमसीएलआर भी 0.15 प्रतिशत बढ़कर 7.70 प्रतिशत हो गया है।

लेंडिंग रेट बढ़ने का मतलब हुआ कि होम लोन, ऑटो लोन की EMI बढ़ जाएगी। बता दें कि रेपो रेट में इजाफे से पहले पर्सनल लोन पर 10.50% से 19 प्रतिशत तक ब्याज देना पड़ता है। ऑटो लोन पर 7.35% से 8.50% तक ब्याज और गोल्ड लोन पर 10% से 19.8% ब्याज देना पड़ता है। रेपो रेट में इजाफे के बाद अब इन सभी लोन पर 50 बेसिस प्वाइंट के हिसाब से बढ़ोतरी होने की संभावना है।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button