Big news App
रूस यूक्रेन युद्धविश्व

भारतीय छात्रों को यूक्रेन ने बनाया बंधक, टैंक रोकने के लिए खड़ा कर रहा आगे : रूस का दावा

कीव – युद्ध के बीच रूसी दूतावास ने बड़ा दावा किया है। उनके मुताबिक, भारतीय छात्रों को यूक्रेनी सुरक्षाबलों द्वारा मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है. दूतावास ने कहा है कि यूक्रेन की सेना ने भारतीय छात्रों को रूस जाने से रोकने के लिए बंधक बना लिया है. बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से फोन पर बात की है.

दोनों नेताओं के बीच यूक्रेन से भारतीय नागरिकों को निकालने के मुद्दों पर चर्चा हुई है. रूसी दूतावास ने कहा कि हमारी जानकारी के अनुसार यूक्रेनी अधिकारियों ने भारतीय छात्रों के एक बड़े समूह को जबरन खार्कोव में रखा है. वे छात्र यूक्रेनी क्षेत्र छोड़कर बेलगोरोड जाना चाहते हैं. पीएम मोदी और पुतिन की बातचीत के ठीक बाद रूसी रक्षा मंत्रालय की ओर से एक बयान जारी किया गया है.

रूसी रक्षा मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि हमारी सेना कीव और खारकीव से भारतीय छात्रों को निकालने में पूरी मदद कर रही है, लेकिन यूक्रेन ने भारतीय छात्रों को बंधक बना लिया है. रूस ने दावा किया है कि यूक्रेन अब भारतीय छात्रों को ढाल बना रहा है. वहां भारतीय छात्रों को रोक लिया गया है. रूस ने कहा कि भारतीयों को खारकीव से निकालने की कोशिश की जा रही है.

इस बीच रूसी दावे के बाद यूक्रेन की ओर से भी बड़ा बयान सामने आया है. यूक्रेन के विदेश मंत्रालय की ओर से ट्वीट कर भारत समेत उन देशों से आह्वान किया है कि वे अपने छात्रों को निकालने के लिए एक कॉरिडोर बनाने को लेकर रूस से बात करें. यूक्रेन ने भारत, पाकिस्तान, चीन से आह्वान किया है कि वे रूसी आक्रमण के कारण खारकीव और सूमी समेत अन्य शहरों में फंसे अपने छात्रों को निकालने के लिए मानवीय कॉरिडोर बनाने को लेकर रूस से बात करें.

बेलारूस के राजदूत ने UN में दावा किया कि पोलैंड में बॉर्डर गार्ड्स ने करीब 100 भारतीय छात्रों से मारपीट की और उन्हें वापस यूक्रेन की ओर भेज दिया गया. भारतीय विदेश मंत्रालय ने दावा किया है कि यूक्रेन से अब तक 17 हजार से अधिक भारतीय छात्रों को सुरक्षित निकाला जा चुका है.

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button