विश्व

मर रहे पाकिस्तानी नागरिक,मक्का में हज करने गए 600 से अधिक लोगों की मौत

नई दिल्ली – सऊदी अरब में हज यात्रा के दौरान भीषण गर्मी से मरने वालों की संख्या 600 से अधिक हो गई, जिसमें 68 भारतीय भी शामिल हैं। वहां के एक राजनयिक ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ऐसा मना जा रहा है कि हज यात्रा करने आए जायरीन में अधिकतर बुजुर्ग थे और मौसम परिवर्तन के कारण कुछ लोगों की मौत हो गई।

35 पाकिस्तानी नागरिकों की मौत

समाचार एजेंसी पीटीआई ने पाकिस्तानी अखबार डॉन के हवाले से बताया पाकिस्तान के हज मिशन के महानिदेशक अब्दुल वहाब सूमरो ने बुधवार को कहा कि 18 जून तक कुल 35 पाकिस्तानी नागरिकों की मौत हुई है। डॉन के मुताबिक, मरने वालों में सबसे अधिक मिस्र के नागरिक शामिल हैं। सऊदी में मिस्र के 600, इंडोनेशिया के 144, भारत के 68, जॉर्डन के 60 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, सऊदी अरब ने आधिकारिक तौर पर मौतों का आंकड़ा जारी नहीं किया है।कुछ लोगों की मौत प्राकृतिक कारणों की वजह से हुई है, कई बुजुर्ग लोग भी हज करने के लिए मक्का आए थे। सऊदी के पवित्र शहर मक्का में जिस तरह से पारा अपने चरम पर है, उसकी वजह से इस वर्ष तकरीबन 550 लोगों की मौत हो गई, जो हज करने के लिए यहां आए थे।

हज सऊदी अरब की भीषण गर्मियों के दौरान होता

राजनयिक ने कहा, “ऐसा हर साल होता है। हम यह नहीं कह सकते कि इस साल ऐसा ज्यादा हुआ। यह कुछ पिछले साल जैसा है, लेकिन हमें मालूम है कि यह आने वाले दिनों में और होगा।” बता दें कि पिछले कई वर्षों से हज सऊदी अरब की भीषण गर्मियों के दौरान होता आया है। पिछले महीने प्रकाशित सऊदी के एक अध्ययन के अनुसार, जिस क्षेत्र में इबादत की जाती है, वहां का तापमान हर दशक 0.4 डिग्री सेल्सियस बढ़ रहा है।

Back to top button