Close
भारत

नरेंद्र मोदी के पैर छूने लगे नीतीश कुमार,एनडीए संसदीय दल की बैठक में क्या बोल नीतीश कुमार

मुंबई – एनडीए संसदीय दल की मीटिंग में नरेंद्र मोदी औपचारिक तौर पर एनडीए संसदीय दल के नेता चुने गए। इस दौरान एनडीए के घटक दलों ने एकजुटता का संदेश भी दिया। मोदी ने गठबंधन साथियों को यह कहकर आश्वस्त किया कि बीजेपी ने हमेशा गठबंधन धर्म का पालन किया है। बीजेपी लगातार इस बात को दोहरा रही है कि 60 साल बाद इतिहास बना है। हर नेता की तरफ से कई बार कहा गया कि 1962 के बाद पहली बार कोई नेता तीसरी बार प्रधानमंत्री बन रहा है। यानी नेहरू के बाद पहली बार रिकॉर्ड बन रहा है। नतीजों के दिन भी नरेंद्र मोदी ने जब बीजेपी हेडक्वॉर्टर पर पार्टी कार्यकर्ताओं के संबोधित किया था, तब भी ‘1962 के बाद पहली बार’ का जिक्र किया था।

सब दिन साथ हैं, जो करेंगे अच्छा करेंगे

नीतीश कुमार ने कहा कि ‘हमारी पार्टी जनता दल यूनाइटेड, भारतीय जनता पार्टी संसदीय दल के नेता आदरणीय नरेंद्र मोदी जी को भारत के प्रधानमंत्री पद के लिए समर्थन देती है। आज ये बहुत ही खुशी की बात है कि 10 साल से ये प्रधानमंत्री हैं और फिर प्रधानमंत्री होने जा रहे हैं। इन्होंने पूरे देश की सेवा की और पूरा भरोसा है कि जो कुछ बचा है वो अगले 10 साल में पूरा कर देंगे। हम लोग पूरे तौर पर सब दिन इनके साथ हैं। ये जो कुछ भी करेंगे सब अच्छा है।’ नीतीश ने कहा “मेरा आग्रह है कि आप जल्दी से जल्दी अपना काम शुरू कीजिए शपथ ग्रहण हो जाए। हम तो चाहते हैं कि आज से ही आप अपना काम करना शुरू कर दीजिए। आपके नेतृत्व में सभी लोग काम करेंगे। सभी पार्टी के लोग खुश हैं।”

एकसाथ एकजुट होने का संदेश

एनडीए संसदीय दल की मीटिंग में और उससे पहले भी सभी घटक दलों ने एकसाथ और एकुजट होने का संदेश देने की कोशिश की। बीजेपी नेताओं ने कहा कि सब एक साथ हैं और किसी भी बात को लेकर कोई दुविधा नहीं है। भले ही एनडीए के लगभग सभी सहयोगी दल सरकार में अपनी अहम भूमिका चाहते हैं लेकिन एनडीए संसदीय दल की मीटिंग से पहले किसी भी दल के नेता या सांसद ने खुलकर कुछ नहीं कहा। लगभग सभी दलों ने कहा कि वह नरेंद्र मोदी को समर्थन दे रहे हैं। राजनाथ सिंह ने अटल बिहारी बाजपेयी के दौर की याद दिलाई और कहा कि बीजेपी हमेशा गठबंधन धर्म का पालन करती है और यह बीजेपी की परंपरा रही है। उन्होंने कहा कि गठबंधन हमारे लिए मजबूरी नहीं हमारे लिए कमिटमेंट है।

सबने कहा- पांच साल चलेगी सरकार

अमित शाह ने जब नरेंद्र मोदी के प्रस्ताव का समर्थन किया तो कहा कि हर तरफ से यह आवाज आई है कि नरेंद्र मोदी अगले पांच साल के लिए देश का नेतृत्व करें। बीजेपी नेता और सहयोगी दल के नेता भी इस बात को लगातार कह रहे हैं कि सरकार पांच साल चलेगी। दरअसल नतीजों के दिन से इंडी गठबंधन के नेताओं की तरफ से डायरेक्ट और इनडायरेक्ट कहा जा रहा है कि ये सरकार नहीं बनेगी या फिर बनी भी तो कार्यकाल पूरा नहीं करेगी।

नीतीश ने साधा विपक्ष पर निशाना

जेडीयू नेता और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मोदी ने 10 साल देश की सेवा की और पूरा भरोसा है जो कुछ बचा है वह भी यह पूरा कर देंगे। हम पूरे तौर पर इनके साथ रहेंगे। नीतीश ने कहा- जब अगली बार आइएगा तो जो इधर उधर जो ये लोग जीत गए हैं (विपक्ष के लोग) वे भी हारेंगे। नीतीश ने विपक्ष पर निशाना साधा कि ये लोग बिना मतलब की बात करते हैं और उन्होंने आज तक जनता की कोई सेवा नहीं की। नीतीश ने मोदी से कहा कि आपने इतनी सेवा की है तो इस तरह से हुआ है। ये मौका मिला है इसके बाद उन लोगों के लिए (विपक्ष) कोई गुंजाइश नहीं रहेगी। देश आगे बढ़ेगा और बिहार का भी काम हो जाएगा। एकनाथ शिंदे ने कहा कि विपक्ष ने झूठे नैरेटिव फैलाकर देश की जनता को गुमराह करने की कोशिश की और उन्हें देश ने नकारा है। चिराग पासवान ने कहा कि मोदी की वजह से ही एनडीए को जीत मिली।

Back to top button