Close
खेल

Asia Cup 2023: मोहम्मद शमी को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखने को लेकर बॉलिंग कोच ने किया ये खुलासा

नई दिल्लीः भारत-बांग्लादेश की टीमें एशिया कप सुपर-4 के मुकाबले में गुरुवार को आमने-सामने होंगी। इस मैच में टीम इंडिया और बांग्लादेश के पास खोने को कुछ नहीं है क्योंकि भारतीय टीम पहले ही फाइनल के लिए क्वालिफाई कर चुकी है, जबकि बांग्लादेश पहले ही रेस से बाहर हो गई है। फिर भी टीम इंडिया फाइनल से पहले जीत की लय को बरकरार रखना चाहेगी। इस मैच से पहले भारत के गेंदबाजी कोच पारस म्हाम्ब्रे ने गुरुवार को तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखने को लेकर खुलासा किया है।

भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी कोच पारस म्हाम्ब्रे ने गुरुवार को कहा कि जसप्रीत बुमराह की वापसी से उनकी तेज गेंदबाजी इकाई मजबूत हुई है और अगले महीने विश्व कप से पहले पूरी तरह से फिट चार तेज गेंदबाज होना टीम के लिए शानदार है. बुमराह ने हाल के आयरलैंड दौरे पर लंबे समय बाद चोट के बाद वापसी की और फिर मौजूदा एशिया कप के दौरान भी अपनी गेंदबाजी से प्रभावित किया.

म्हाम्ब्रे ने शुक्रवार को बांग्लादेश के खिलाफ सुपर 4 मैच से पहले कहा- हमारे पास चार क्वालिटी बॉलर्स हैं। इन विकल्पों का होना हमेशा अच्छा होता है। हालांकि, पहली पसंद का पेस अटैक जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद सिराज और हार्दिक पांड्या को लेकर है। जिससे मैनजमेंट को मोहम्मद शमी को बाहर करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। म्हाम्ब्रे ने कहा- मोहम्मद शमी जैसे किसी प्लेयर को बाहर करना आसान बात नहीं है। उनका अनुभव और प्रदर्शन अभूतपूर्व है। किसी प्लेयर को बाहर करने जैसी बातचीत करना कभी आसान नहीं होता। यह एक कठिन फैसला था, लेकिन उन्हें टीम के फैसले के बारे में साफ तौर पर बता दिया गया।

म्हाम्ब्रे ने बांग्लादेश के खिलाफ होने वाले भारत के अंतिम ‘सुपर फोर’ मैच से पहले कहा, ‘‘हम एनसीए (राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी) से ही बुमराह की प्रगति देख रहे हैं और हम उसकी रिपोर्ट से खुश हैं.अब हमारे पास चार बेहतरीन गेंदबाज हैं और ऐसे विकल्प होना हमेशा ही अच्छा होता है। ऐसी समस्या होना अच्छा है.”उन्होंने कहा कि यह मुश्किल होता है लेकिन संबंधित खिलाड़ी को स्पष्ट रूप से टीम के फैसले के बारे में बता दिया जाता है. पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने कहा, ” लेकिन हम खिलाड़ी को इसके बारे में बताने में काफी स्पष्ट रहते हैं। हम जो फैसले लेते हैं, खिलाड़ी इसके बारे में जानते हैं. वे जानते हैं कि यह टीम के फायदे के लिए ही है.”

उन्होंने कहा- हम खिलाड़ियों के साथ बातचीत के तरीके में स्पष्ट हैं और उन्होंने इस बात को लेकर हम पर भरोसा दिखाया है। म्हाम्ब्रे ने कहा- “खिलाड़ियों को पता है कि हम कोई भी फैसला लेते हैं तो यह टीम के फायदे के लिए है।” वहीं हार्दिक ने जिस तरह से खुद को तैयार किया है, उससे मैं बहुत खुश हूं। हम उनके वर्कलोड मैनेजमेंट पर काम कर रहे हैं। यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि वह फिट है और वह हासिल उस लक्ष्य को हासिल कर सकता है जो हम उससे उम्मीद करते हैं।”

म्हाम्ब्रे ने गुरुवार को कहा कि जसप्रीत बुमराह की वापसी से उनकी तेज गेंदबाजी इकाई मजबूत हुई है और अगले महीने होने वाले विश्व कप के लिए पूरी तरह से फिट चार तेज गेंदबाजों का टीम में शामिल होना सुखद है। हाल ही में आयरलैंड दौरे के दौरान चोट के कारण लंबे समय तक बाहर रहने के बाद बुमराह ने भारतीय टीम को अपना रंग दिखाया और मौजूदा एशिया कप के दौरान भी अपनी तीव्रता से प्रभावित किया।

Mohammed Shami को पाक-श्रीलंका मैच से बाहर रखने पर बॉलिंग कोच ने तोड़ी चुप्पी, बताया क्यों किया ऐसा
भारत का पहली पसंद का तेज गेंदबाजी आक्रमण बुमराह, मोहम्मद सिराज और हार्दिक पंड्या का है जिससे टीम प्रबंधन को मोहम्मद शमी को बेंच पर बिठाने के लिए बाध्य होना पड़ रहा है.शमी को केवल नेपाल के खिलाफ मैच के लिए बुमराह की जगह प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया था. इसके बाद पाकिस्तान और श्रीलंका के खिलाफ मैच में उन्हें टीम में जगह नहीं मिली.

भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी कोच पारस म्हाम्ब्रे ने गुरुवार को कहा कि जसप्रीत बुमराह की वापसी से उनकी तेज गेंदबाजी इकाई मजबूत हुई है और अगले महीने विश्व कप से पहले पूरी तरह से फिट चार तेज गेंदबाज होना टीम के लिए शानदार है. बुमराह ने हाल के आयरलैंड दौरे पर लंबे समय बाद चोट के बाद वापसी की और फिर मौजूदा एशिया कप के दौरान भी अपनी गेंदबाजी से प्रभावित किया.

म्हाम्ब्रे यह देखकर काफी खुश हैं कि हार्दिक पंड्या ने हाल के समय में बतौर गेंदबाज काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. उन्होंने कहा, ” हार्दिक जिस तरह से आगे बढ़ रहा है, मैं उससे बहुत खुश हूं. हम उनका कार्यभार देख रहे हैं और सुनिश्चित कर रहे हैं कि वह फिट रहें। एक बार जब वह 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करता है तो वह अलग तरह का गेंदबाज होता है. टीम की पहलू से देखें तो हमारे पास यह एक विकेट चटकाने वाला विकल्प है.”

भारत की पहली पसंद का तेज आक्रमण अब बुमराह, मोहम्मद सिराज और हार्दिक पंड्या के आसपास केंद्रित है, जिससे प्रबंधन को मोहम्मद शमी को बाहर करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। उन्होंने कहा, “शमी जैसे खिलाड़ी को बाहर करना बहुत आसान नहीं है। उनके पास जो अनुभव है और उन्होंने देश के लिए जो प्रदर्शन किया है वह अभूतपूर्व है। इस तरह की बातचीत करना कभी आसान नहीं होता है।” शमी को बांग्लादेश के खिलाफ मौका मिल सकता है। माना जा रहा है कि बुमराह या सिराज को आराम दिया जाएगा।

Back to top button