Close
ट्रेंडिंगमनोरंजन

Scam 2003 Review : स्टाम्प घोटाले पर बनी ये वेब सीरीज में गगन देव रियार की एक्टिंग दमदार है

मुंबई – साल 2003 में हुए स्कैम पर आधारित वेब सीरीज स्कैम 2003 द तेलगी स्टोरी आज ओटीटी प्लेटफॉर्म सोनी लाइव पर रिलीज हो चुकी है. यह फिल्म हर्षद मेहता स्कैम की तरह ही है, जो कुछ वक्त पहले रिलीज हुई थी. हर्षद मेहता की वेब सीरीज 1992(Scam 1992) में हुए स्कैम पर आधारित है और ये 2003 के स्कैम पर. यह कहानी भी एक व्यक्ति के जमीन से आसमान तक पहुंचने की कहानी की है, कि वह किस तरह से एक अमीर व्यक्ति बनता है. आइये जानते हैं इसकी असली कहानी के बारे

डायरेक्टर हंसल मेहता की सीरीज स्कैम 2023 आज यानी 1 सितंबर को रिलीज होने जा रही है। मोस्ट अवेटेड सीरीज़ स्कैम 2023 अब्दुल करीम तेलगी की कहानी पर आधारित है, जिसने भारत का सबसे बड़ा स्टाम्प पेपर घोटाला किया था। इस सीरीज में अभिनेता गगन देव रियार मुख्य भूमिका निभा रहे हैं, जो तेलुगु के रूप में नजर आएंगे। टीजर से लेकर ट्रेलर तक गगन देव रियार की दमदार एक्टिंग ने फैन्स को प्रभावित किया है।

साल 2003 में हुए स्टाम्प पेपर घोटाला की कहानी है स्कैम 2003 द तेलगी स्टोरी. यह कहानी एक असल घोटाले पर आधारित है. स्टाम्प पेपर घोटाला, जिसे तेलगी घोटाला के नाम से भी जाना जाता है. यह एक फाइनेंशियल घोटाला था जो कि साल 1992 में शुरू होता है, लेकिन यह कई सालों बाद यह 2003 में सभी की नजरों में आता है. इस घोटाले में एक नकली स्टाम्प पेपर रैकेट शामिल होता है , जो कि देश भर के कई राज्यों में फैला होता है और रिपोर्ट्स के मुताबिक जिसकी कीमत 30 हजार करोड़ रुपये से भी ज्यादा बताई जाती है. इस पूरे घोटाले के मास्टर माइंड होते हैं अब्दुल करीम तेलगी. आइए जानते हैं कौन हैं अभिनेता गगन देव रियार?

गगन देव रियार एक शानदार थिएटर अभिनेता हैं। अभिनय के अलावा वह लेखक, निर्देशक और थिएटर कलाकार के रूप में भी काम करते हैं। गगन देव पिछले 17 सालों से इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं। उन्हें डिटेक्टिव 9-2-11, बागी अलबेले और ओके टाटा बाय बाय जैसे शानदार प्ले इन ए सॉन्ग के लिए जाना जाता है। टीवी और फिल्मों की दुनिया में कदम रखते हुए गगन देव ने शानदार फिल्म सोनचिरैया में काम किया है। इसके बाद उन्हें ऑफ ब्रॉडवे एनवाई में देखा गया था।आइये जानते हैं कि कौन थे अब्दुल करीम तेलगी.

अब्दुल करीम तेलगी कर्नाटक का रहने वाला था और पिता रेलवे में कर्मचारी हुआ करते थे. हालांकि पिता के निधन के बाद वह छोटी उम्र से ट्रेनों में फल बेचने का काम किया करता था. इस दौरान एक मुंबई के सेठ की नजर पड़ती है और वह बाद में उसे मुंबई ले जाता है. इसके पीछे वजह यह थी, कि जिन कागजों में वह फल लपेट कर बेच रहा था वह उस शख्स की बी कॉम की डिग्री थी. उसके बाद अब्दुल मुंबई जाता है और वहां से फिर दुबई. सात साल बाद दुबई से लौट कर फर्जी कागजातों की मदद से दुबई भेजने का धंधा शुरू करता है, लेकिन पकड़ा जाता है. उसके बाद जेल जाता है, इस दौरान एक शख्स से मुलाकात होती है और दोनों मिलकर कुछ बड़ा प्लान करते हैं.

उन्होंने 2023 में मीरा नायर की मॉनसून वेडिंग म्यूजिकल भी की है। गगन देव वेब सीरीज नॉट फिट और ए सूटेबल बॉय में नजर आ चुके हैं। गगन देव ने कई थिएटर पुरस्कार जीते हैं, जिनमें ‘पिया बेहरूपिया’ नाटक में सर टोबी बेल्च की भूमिका निभाने के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का मेटा अवॉर्ड भी शामिल है। इसके अलावा उन्होंने यंग थिएटर आर्टिस्ट के लिए मशहूर विनोद दोशी फ़ेलोशिप अवॉर्ड भी जीता है।

उसके बाद वह स्टाम्प पेपर का धंधा शुरू करता है और लंबे समय तक नकली स्टाम्प पेपर छापने का काम किया था. बताया जाता है कि हर्षद मेहता घोटाला के बाद स्टाम्प पेपर की काफी कमी हो गई थी, जिसके बाद अब्दुल ने इस धंधे की शुरुआत की थी. इसके साथ ही कई बड़े अधिकारियों का नाम भी इसमें शामिल था. वहीं, बताया जाता है कि अब्दुल ने स्टाम्प छापने के लिए एक मशीन भी तैयार की हुई थी. हालांकि इसके बारे में कुछ पता नहीं चल पाया था.

वेब सीरीज ‘स्कैम 2003 द तेलगी स्टोरी’ शुरू वहां से होती है जहां अब्दुल करीम तेलगी का नारको टेस्ट चल रहा है। वह अंग्रेजी में जो बात कहता है, उसका मतलब यही है, ‘हर धंधे का सहारा, नेता तुम्हारा हमारा’। इस एक लाइन में इस पूरे गड़बड़ घोटाले का सूत्र छिपा है। व्यवस्था से मदद लेकर व्यवस्था की ही पुंगी बजा देने वाले तेलगी देश में जमाने से भरे पड़े हैं और अब भी हैं। बिना राजनीतिक समर्थन के कोई भी बड़ा आर्थिक घोटाला नहीं हो सकता है, यही इस वेब सीरीज का सार है। विस्तार इसका ये है कि ये सीरीज अपने संवादों और तेलगी बने गगन देव रियार के लिए बरसों तक याद की जाएगी। हंसल मेहता ने अपनी वेब सीरीज और फिल्मों का जो प्रपत्र (टैम्पलेट) तैयार किया है, उसकी झलक यहां भी है। मामला दोहराव का भी लगता है लेकिन हंसल हैं तो एक भरोसा देखने वाले के मन में बना रहता है कि समय भले लग रहा हो लेकिन सब्र का फल मीठा जरूर मिलेगा।

हंसल मेहता ने इससे पहले गगन देव को अपनी सीरीज स्कैम 1992 के लिए भी अप्रोच किया था, लेकिन अपने बिजी शेड्यूल के चलते वह समय नहीं निकाल पाए। अब स्कैम 2003 में गगन देव मुख्य भूमिका में नजर आ रहे हैं। गगन 30,000 करोड़ रुपये के स्टांप पेपर घोटाले के लिए जिम्मेदार अब्दुल करीम तेलगी की भूमिका निभा रहे हैं। गगन देव ने अपनी शानदार एक्टिंग से सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है।

वहीं, इस घोटाले की जानकारी 2001 में हुई थी. जिसके बाद अब्दुल को गिरफ्तार किया गया था. हालांकि उसके बाद भी साल 2003 में जेल से इस धंधे को चला रहा था. यहां तक कि इस मामले में कई केस भी दर्ज किए गए थे. इस बड़े घोटाले के उजागर होने के बाद अब्दुल को 30 साल के लिए जेल भेज दिया गया था और 202 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया था.बता दें कि सोनी लिव पर रिलीज वेब सीरीज स्कैम 2003 में अब्दुल की भूमिका में गगन देव रियार नजर आए हैं. जिन्होंने बेहतरीन ढंग से अपने इस रोल को निभाया है. इसके साथ ही हर्षद मेहता के स्कैम पर आधारित वेब सीरीज 1992 की तरह दर्शक इसे भी काफी पसंद कर रहे हैं.

हंसल मेहता वेब सीरीज ‘स्कैम 2003 द तेलगी स्टोरी’ के रचयिता है। निर्देशन इस सीरीज का ‘सांड की आंख’ वाले तुषार हीरानंदानी ने किया है। तुषार ने अपना विकास इस सीरीज के निर्देशन में एकलव्य सरीखा किया है। फ्रेम की ब्लॉकिंग, कैमरे का घुमाव, किरदारों के मनोभावों को पकड़ने का कौशल सब हंसल मेहता सरीखा है। पूरी सीरीज का कलर टैम्पलेट भी इसी लिहाज का रखा गया है कि 20 साल, 40 साल पहले का मुंबई दिखाते हुए मामला कहीं अटपटा न लगने पाए। तुषार का निर्देशन इस सीरीज को रोचक बनाता है। पटकथा हालांकि थोड़ा समय लेती है कहानी को गति में लाने में लेकिन गाड़ी फर्स्ट गियर में जितनी सहजता से आगे बढ़ सके, इंजन फुल स्पीड में आने पर भी उतना ही सहज रहता है और यही इस सीरीज के पहले पांच एपिसोड की जीत है। दूसरे पांच एपिसोड अगले महीने प्रसारित किए जाएंगे।

वेब सीरीज ‘स्कैम 2003 द तेलगी स्टोरी’ की कास्टिंग भी इसकी जान है। गगन देव रियार ने बिना किसी आडंबर या कपट के जिस सरलता और सहजता से अब्दुल करीम तेलगी का किरदार उसकी युवास्था से लेकर प्रौढ़ होने तक की अवस्था का निभाया है, वह अभिनय की पाठशाला है। अभिनय किरदार को जी लेने में हैं। किसी दूसरे वास्तविक व्यक्तित्व को अपने में ढाल लेना आसान नहीं है लेकिन गगन ने ये कर दिखाया है और इसके लिए उन्हें अगले साल तमाम ओटीटी अवार्ड्स भी मिलना तय हैं। उनका साथ देने के लिए यहा शाद रंधावा की ऊर्जा है। सना अमीन शेख का यौवन है। तलत अजीज का भरोसा है और है मुकेश तिवारी का सम्मोहन। सोने पर सुहागा है वेब सीरीज ‘स्कैम 2003 द तेलगी स्टोरी’ का बैकग्राउंड म्यूजिक जिसे हंसल मेहता ने सीधे सीधे ‘स्कैम 1992’ से उठा लिया है।

Back to top button