Close
लाइफस्टाइल

जाने नागा साधु के बारे में, महिला नागा साधु भी रहती हैं निर्वस्त्र ?

नई दिल्ली – भौतिक सुखों का त्याग कर सत्य व धर्म के मार्ग पर निकल पड़ते हैं. आमतौर पर साधु-संत लाल, पीला या केसरिया रंगों के वस्त्रों में नजर आते हैं. पुरुष नागा साधुओं के बारे में बहुत लोग जानते होंगे। लेकिन शायद ही किसी को महिला नागा साधुओं के बारे में पता होगा। लेकिन आपको बता दें कि पुरुषों की तरह ही महिला नागा साधु भी होती हैं जिनका जीवन पुरुष नागा साधुओं से भी ज्यादा कठिन होता है। वैसे तो हम सभी जानते हैं कि नागा साधुओं की वेशभूषा दूसरे बाबाओं से काफी अलग होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि महिला नागा साधुओं की वेशभूषा क्या होती है?

हालांकि महिला साधु ऐसा नहीं कर सकतीं। नागा में बहुत से वस्त्रधारी और बहुत से निर्वस्त्र होते हैं। इसी तरह महिलाएं भी नागा साधु बनती हैं तो उन्हें भी नागा बनाया जाता है। नागा महिलाएं वस्त्रधारी होती हैं। इन्हें अपने मस्तक पर तिलक लगाना होता है। उन्हें सिर्फ गेरुए रंग का वस्त्र धारण पहनने की अनुमति होती है। इनका कपड़ा सिला हुआ नहीं होता है। आपको बता दें कि महिला नागा साधुओं को भी पुरुष नागा साधुओं के जितनी ही इज्जत मिलती है। महिला नागा साधु को माता कह कर बुलाया जाता है।

नागा साधु कभी भी कपड़े नहीं पहनते हैं। वे कपकपाती ठंड़ में भी हमेशा नग्न अवस्था में ही रहते हैं. वे अपने शरीर पर धुनी या भस्म लपेटकर घूमते हैं। नागा का अर्थ होता है ‘नग्न’,नागा साधु आजीवन नग्न अवस्था में ही रहते हैं और वे खुद को भगवान का दूत मानते हैं।

Back to top button