Close
विश्व

400 से ज्यादा बच्चों को बुरी तरह मार डाला था इस लेडी किलर ने

नई दिल्ली – इस दुनिया में एक ऐसी लेडी किलर भी हुई है जिसने पैसों की खातिर 400 बच्चों को मौत के घाट उतार दिया था। ब्रिटेन की इस महिला असली सच्चाई जब दुनिया के सामने आई तो इसके मर्डर करने के कारण और तरीकों के बारे में जानकर हर किसी की रूह कांप उठी। तो पढ़िए इस खतरनाक महिला किलर की कहानी…

1896 के आसपास की है। ये वो समय था, जब ब्रिटेन में बेबी फार्मिंग का चलन था। बेबी फार्मिंग का मतलब परिजन अपने बच्चों की देखभाल के लिए बेबी फार्मर्स के पास छोड़ देते थे और उन्हें पैसे देते थे। कुछ बेबी फार्मर्स तय समय के लिए बच्चों की देखभाल करते थे, जबकि कुछ हमेशा के लिए बच्चों को अपने पास रख लेते थे और फिर किसी जरूरतमंद को बेच देते थे।

बेबी फार्मर थी जिसने 400 बच्चों का कत्ल कर डाला। उसने बच्चों की देखभाल के लिए पैसे तो लिए, लेकिन देखभाल की जगह उनकी हत्या कर दी। जब इस मामले का खुलासा हुआ तो हर कोई शख्स हैरान रह गया था। पुलिस ने जब अमेलिया से पूछताछ की तो उसने कहानी बताई। पूछताछ में पता चला कि उसकी मानसिक हालत ठीक नहीं थी।

बेबी फार्मर भी थी जिसने बच्चों की देखभाल के लिए लोगों से पैसे तो लिए लेकिन, बच्चों की देखभाल करने की बजाय उन्हें मौत के घाट उतार दिया। इस महिला ने 400 से भी ज्यादा बच्चों को पैसे के लालच में बेरहमी से मार डाला,4 अप्रैल 1896 के दिन एक मछुआरे को थेम्स नदी में मछली पकड़ने के दौरान एक पैकेट में लिपटी छोटी सी बच्ची की लाश मिली. जिसकी उम्र 1 साल से भी कम थी। उसकी गर्दन के चारों ओर एक सफेद टेप लिपटी हुई थी. देखने से लग रहा था कि बच्ची को इसी टेप से गला घोंटकर मारा गया है। साथ ही एक कागज भी लाश के साथ था जिसमें एक घर का पता लिखा हुआ था. मछुआरे ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने लाश को कब्जे में ले लिया. फिर उस पते पर जा पहुंची जो उस कागज में लिखा हुआ था।

पुलिस कागज पर लिखे पते पर पहुंची। वो पता अमेलिया का था। पुलिस घर में घुसी तो हैरान रह गई। अंदर से लाशों के सड़ने की बदबू आ रही थी। बच्चे की गर्दन पर जैसी टेप लगी थी, वो भी बरामद हुई। पुलिस ने अमेलिया को गिरफ्तार कर सख्ती से पूछताछ की। पूछताछ में पता चला कि उसने 400 से ज्यादा बच्चों को मार डाला।पूछताछ के बाद अमेलिया को अदालत में पेश किया गया। कोर्ट ने अमेलिया को फांसी की सजा सुनाई। 10 जून 1896 में उसे फांसी के फंदे पर लटका दिया गया।

Back to top button