Close
भारत

चीन में कोरोना की तबाही,सेना पर छाया कोविड का खतरा

नई दिल्ली – सैनिकों को कोविड के प्रति पूरी तरह से सतर्क रहने के लिए कहा गया है। चीन में लगातार बढ़ रहे कोरोना केसेस को देखते हुए चीन की सेना में चिंता है। हाल ही में जारी पीएलए की कॉमेंट्री में कहा गया है कि सेना की ट्रेनिंग को कोविड की वजह से प्रभावित नहीं किया जा सकता लिहाजा सभी सैनिकों को कोविड को देखते हुए अतिरिक्त सतर्कता बरतना होगा। सभी सैनिकों को मास्क और पीपीई किट का इस्तेमाल करने की हिदायत दी गई है, इसके अलावा क्वॉरेंटाइन के लिए भी नए निर्देश जारी किए गए हैं ताकि देश में फैले कोविड संकट से चीन की सेना को बचाया जा सके।

श्मशान गृहों पर शवों के अंतिम संस्कार के लिए वेटिंग टाइम 30 दिन पार कर चुका है. मेडिकल स्टोर्स पर दवा की कमी से हाहाकार है और लंबी कतारें दिख रही हैं, जबकि अस्पताल में बेड तो छोड़िये, बैठने की जगह पाने के लिए भी मारामारी जारी है. ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट बीएफ। 7 ही वह खतरनाक वैरिएंट है, जो चीन में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के लिए मुख्यरूप से जिम्मेदार है। इसके भारत में भी तीन-चार मामले आ चुके हैं। चीन की स्थिति कितनी खराब हो चुकी है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि डब्ल्यूएचओ भी चिंतित हो चुका है और जर्मनी तो अपने नागरिकों को बचाने के लिए बड़ा कदम उठा चुका है।

2020 में कोविट के चलते चीन की सेना के रिक्रूटमेंट पर काफी बुरा असर पड़ा था साथ ही उसके शिप बिल्डिंग प्लांस भी डिले हो गए थे। पीपल लिबरेशन आर्मी ने निर्देश जारी किए हैं के यूनिट लेवल पर कोविड को देखते हुए हर नियम का पालन किया जाना चाहिए जिसमें टेस्टिंग, क्वॉरेंटाइन और बचाव से जुड़े हुए कई बिंदु हैं । कोविड की पहले वेव में पीएलए आर्मी को एलएसी पर पीपीई किट पहनकर पेट्रोलिंग करते देखा गया था, इस बार भी चीन के सैनिक सरहदों पर पीपीई किट पहनकर नजर आने वाले हैं।

Back to top button