Close
विश्व

Russia Ukraine War: खेरसॉन में मिली हार से बौखलाया रूस, यूक्रेन के खेरसॉन में तेज हुआ हमला

नई दिल्ली – खेरसॉन में बिजली आपूर्ति हाल में बहाल की गई थी. मॉस्को ने ठंड के मौसम में प्रमुख असैन्य बुनियादी ढांचों को नष्ट करने के लिए हमले तेज कर दिए हैं. कीव में, मेयर विताली क्लित्स्को ने राजधानी के लाखों निवासियों से कहा कि उन्हें सर्दियों के लिए पानी और भोजन का भंडार रखना चाहिए, क्योंकि बुनियादी ढांचों को अधिक नुकसान होने पर आपूर्ति बाधित होने की आशंका है.

रूस ने हाल ही में कब्जे से छोड़े खेरसॉन पर बमबारी (Kherson Shelling) तेज कर दी है. रिपोर्ट्स में अधिकारियों के हवाले से दावा किया जा रहा है कि खेरसॉन में हुई ताजा बमबारी में 15 नागरिकों की मौत हो गई है. इसी के साथ देश भर के प्रमुख शहरों में बिजली और पानी की समस्या अभी भी बनी हुई है.

हाल के दिनों में रूस ने यूक्रेन के पावर ग्रिड (Ukraine Power Grid) को निशाना बनाया है. प्रमुख शहरों में बिजली और पानी की सप्लाई ठप है. मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ठंड को ही यूक्रेन के खिलाफ अपना सबसे बड़ा हथियार बनाना चाहते हैं. यही कारण है रूसी हवाई हमलों में यूक्रेन के पावर स्टेशनों को निशाना बनाया जा रहा है.

लोगों से आग्रह किया कि यदि संभव हो तो वे शहर छोड़कर अपने मित्रों या परिवार के अन्य सदस्यों के पास जाने पर विचार करें. वहीं रूस ने बृहस्पतिवार को अपने विदेशी एजेंट कानून का एक नया संस्करण लागू किया, जिसके तहत ‘‘विदेशी प्रभाव वाले’’ किसी भी व्यक्ति को दूसरे देश का एजेंट मानने की अधिकारियों की शक्तियों का विस्तार किया गया है.

Back to top button