बिजनेस

केंद्र सरकार की इस योजना से हर महीने कमाएंगे 15 हजार

नई दिल्ली – मोदी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना की देश ही नहीं बल्कि दुनियाभर में तारीफ हो रही है. यह योजना गरीबों को बेहतर इलाज दिलाने में मदद कर रही है। यह स्वास्थ्य योजना होने के साथ-साथ लोगों को रोजगार भी मुहैया करा रही है। केंद्र की मोदी सरकार ने आयुष्मान योजना के तहत पांच साल में 10 लाख नौकरियां पैदा करने का लक्ष्य रखा था.

आयुष्मान मित्र का मुख्य काम योजना से जुड़े हर लाभ को लाभार्थी तक पहुंचाना है। वे सरकारी योजना से संबद्ध अस्पतालों में तैनात हैं। किसी भी आवेदन को करने और अपना आयुष्मान कार्ड तैयार करने की जिम्मेदारी आयुष्मान मित्र की होती है। उनका चयन 12 महीने के अनुबंध के आधार पर किया जाता है। इसे 12 महीने पूरे होने पर बढ़ाया जा सकता है।

योजना के तहत एक लाख से अधिक आजीवन मित्रों को सरकारी व निजी अस्पतालों में तैनात किया गया है। आजीवन मित्रों को वेतन के साथ-साथ अन्य सुविधाएं भी दी जाती हैं। अगर आप भी इस सरकारी योजना से जुड़ना चाहते हैं तो आयुष्मान मित्र बनकर 15 हजार रुपए प्रतिमाह तक का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। आयुष्मान मित्र की भर्ती के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय और कौशल विकास मंत्रालय मिलकर काम करते हैं।

लाइफटाइम फ्रेंड्स को हर महीने 15 हजार रुपए मिलते हैं। इसके अलावा हर मरीज को 50 रुपये की प्रोत्साहन राशि मिलती है। प्रत्येक जिले में एक आजीवन मित्र नियुक्त किया जाता है। उनकी नियुक्ति के लिए जिला स्तरीय एजेंसी जिम्मेदार है। कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय चयन के बाद प्रशिक्षण के लिए जिम्मेदार है।

क्षमता
आवेदक को 12वीं पास होना चाहिए। इसके साथ ही कंप्यूटर और इंटरनेट का ज्ञान होना चाहिए। आवेदक को आयुष्मान मित्र प्रशिक्षण पाठ्यक्रम पूरा करना चाहिए और स्थानीय भाषा का ज्ञान होना चाहिए। आवेदक की आयु 32 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। उनकी नियुक्ति में महिला उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जाती है।

आयुष्मान मित्र का मुख्य काम योजना से जुड़े हर लाभ को लाभार्थी तक पहुंचाना है। वे सरकारी योजना से संबद्ध अस्पतालों में तैनात हैं। किसी भी आवेदन को करने और अपना आयुष्मान कार्ड तैयार करने की जिम्मेदारी आयुष्मान मित्र की होती है। उनका चयन 12 महीने के अनुबंध के आधार पर किया जाता है। इसे 12 महीने पूरे होने पर बढ़ाया जा सकता है।

Back to top button