भारत

दुर्गा पूजा में गांधीजी का असुर के रूप में चित्रण, हिंदू महासभा ने की शिकायत

नई दिल्ली – दक्षिण-पूर्व कोलकाता के एक दुर्गा पूजा पांडाल में लगी मां दुर्गा की प्रतिमा में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के कथित तौर पर असुर के रूप में चित्रण को लेकर अभा हिंदू महासभा के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है। प्रतिमा को लेकर रविवार को गांधी जयंती के मौके पर बवाल मच गया था। पूजा पंडाल में महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की एक मूर्ति को महिषासुर के रूप में चित्रित किए जाने के बाद नया विवाद खड़ा हो गया है। दक्षिण पश्चिम कोलकाता में रूबी क्रॉसिंग के पास एक पंडाल में राष्ट्रपिता की तरह दिखने वाली महिषासुर (mahishasura) की मूर्ति बनाए जाने से नाराज लोगों ने संबंधित आयोजकों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है।

पुलिस ने पूजा पंडाल के खिलाफ शिकायत दर्ज की, जहां मूर्ति रखी गई थी. विशेष रूप से, विभिन्न राजनीतिक दलों की आलोचना और पुलिस के हस्तक्षेप के बाद संबंधित क्षेत्र में दुर्गा पूजा के आयोजकों ने रविवार को निर्देशों का पालन करते हुए मूर्ति का स्वरूप बदल दिया। हिंदू महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष चंद्रचूर गोस्वामी ने कहा कि परिवर्तन ‘जबरन’ किया गया था,गोस्वामी ने कहा, “हमें धमकी भरे कॉल आ रहे थे. पुलिस ने कहा कि अगर हम मूर्ति नहीं बदलते हैं, तो वे हमारी पूजा बंद कर देंगे. पुलिस ने जबरन मूर्ति पर विग लगा दी और चश्मा हटा दिया लेकिन हमारी लड़ाई जारी रहेगी।

घोष ने कहा कि “यह राष्ट्रपिता का अपमान है। यह देश के प्रत्येक नागरिक का अपमान है। इस तरह के अपमान के बारे में भाजपा क्या कहेगी? हम जानते हैं कि गांधीजी का हत्यारा किस वैचारिक खेमे से था।” हालांकि पश्चिम बंगाल भाजपा ने भी इस तरह के प्रतिरूप की निंदा की है। इस मामले के तूल पकड़ने के बाद आज सुबह इस प्रतिमा में बदलाव किए गए और महात्मा गांधी से मिलती-जुलती मूरत को हटा दिया गया।

Back to top button