Big news App
मनोरंजन

दादा साहब फाल्के अवॉर्ड : अभिनेत्री आशा पारेख को मिलेगा दादा साहब फाल्के पुरस्कार

मुंबई – दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवार्ड्स 2022 इस साल दिग्गज अभिनेत्री आशा पारेख को दिए जाएंगे। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस बात की जानकारी दी है.

79 साल की आशा पारेख ने दिल देके देखो, कटी पतंग, तीसरी मंजिल और कारवां जैसी हिट फिल्मों में काम किया है। उन्हें हिंदी सिनेमा की एक प्रतिष्ठित अभिनेत्री माना जाता है। इससे पहले 2019 दादा साहब फाल्के अवॉर्ड साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत को दिया गया था। आशा पारेख ने 1990 के दशक के अंत में प्रशंसित टीवी श्रृंखला कोरा कागज़ का निर्देशन किया। एक निर्माता और निर्देशक के रूप में उनका काम भी अद्वितीय रहा है।

आशा पारेख को भारतीय सिनेमा की हिट गर्ल के तौर पर जाना जाता है। उन्होंने अपने करियर में व्यावसायिक फिल्मों में बहुत सराहना हासिल की है। आशा पारेख अपने समय की सबसे महंगी अभिनेत्री थीं। उनके नाम 1960 और 1970 के दशक में बॉलीवुड में सबसे ज्यादा हिट देने का रिकॉर्ड है। आशा पारेख की लोकप्रिय फिल्मों में जब प्यार किसी से होता है (1961), फिर वही दिल लाया हूं (1963), तीसरी मंजिल (1966), बहारो के सपने (1967), प्यार का मौसम (1969), कटी पतंग (1970) और कारवां (1971) शामिल हैं। आशा पारेख ने नासिर हुसैन की मंजिल मंजिल में भी कैमियो किया था।

इससे पहले वर्ष 1992 में, उन्हें सिनेमा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए भारत सरकार द्वारा पद्म श्री से सम्मानित किया गया था। आशा पारेख को फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा लिविंग लीजेंड अवार्ड से सम्मानित किया गया। आशा पारेख सेंसर बोर्ड की पहली महिला चेयरपर्सन भी थीं।

आशा पारेख का जन्म 2 अक्टूबर 1942 को हुआ था। आशा पारेख की मां वोहरा मुस्लिम थीं और उनके पिता बच्चूभाई पारेख गुजराती थे। आशा पारेख ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत एक बाल कलाकार के रूप में कम उम्र में की थी। 1952 में उन्होंने फिल्म मा से बाल कलाकार के रूप में अभिनय की दुनिया में कदम रखा।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button