Big news App
मनोरंजन

रणदीप हुड्डा ने पाकिस्तान की जेल में मारे गए सरबजीत की बहन दलबीर कौर को दी मुखाग्नि -जाने पूरा मामला

मुंबई – दलबीर कौर के निधन की खबर सुनते ही फिल्म सरबजीत में मुख्य किरदार निभाने वाले रणदीप हुड्डा अंतिम संस्कार करने के लिए तुरंत मुंबई से निकल गए। दरअसल, कई साल तक पाकिस्तान की जेल में बंद रहे सरबजीत सिंह पर बनी बायोपिक में रणदीप हुड्डा सरबजीत के किरदार में नजर आए थे। इस फिल्म में उनके अभिनय से प्रभावित दलबीर ने रणदीप को ही अपना भाई मान लिया था।

दोनों का भाई-बहन का यह रिश्ता इतना पवित्र था कि दलबीर ने रणदीप को मरने पर ‘कंधा’ देने के लिए कहा था। अभिनेता ने भी दलबीर को वादा किया था कि वह उनकी इस इच्छा को जरूर पूरा करेंगे। दलबीर की मौत के बाद रणदीप अपने इस वादे को पूरा करते हुए रविवार को उनके अंतिम संस्कार में शामिल हुए। इस दौरान एक्टर ने ना सिर्फ दलबीर को कंधा दिया बल्कि उन्हें मुखाग्नि भी दी।

साल 1990 में पंजाब के गांव भिखीविंड का सरबजीत सिंह शराब के नशे में सीमा पर करके पाकिस्तान चला गया था। इस दौरान वहां की पुलिस ने उसे पकड़कर बम धमाकों का आरोपी करार दिया था। पाकिस्तान पुलिस का कहना था कि सबरजीत भारत की जासूस है। इसके बाद इस आरोप के चलते पाकिस्तान की अदालत ने सरबजीत सिंह को फांसी की सजा सुनाई थी। भाई पर हो रहे इस अत्याचार पर उनकी बहन दलबीर कौर कानूनी लड़ाई लड़नी शुरू की और इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर अभियान छेड़ दिया था। सरबजीत के जीवन पर आधारित ‘सरबजीत’ में रणदीप हुड्डा ने सरबजीत और ऐश्वर्या राय बच्चन ने दलबीर कौर की भूमिका निभाई थी।

दलबीर कौर ने अपने भाई सरबजीत सिंह के लिए लंबी लड़ाई लड़ी थी। पाकिस्तान की जेल में बंद सरबजीत को रिहा करवाने के लिए उन्होंने हर मुमकिन कोशिश की थी। अपने भाई को रिहा कराने के लिए उन्होंने भारत सरकार से लेकर पाकिस्तान सरकार तक से गुहार लगाई। लंबी कानूनी लड़ाई के बाद आखिरकार उन्हें जीत भी मिल गई थी। लेकिन जिस दिन सरबजीत सिंह की रिहाई होनी थी, उसी रात कुछ कैदियों ने उन पर जानलेवा हमला कर दिया, जिसमें उनकी मौत हो गई।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button