Big news App
रूस यूक्रेन युद्धविश्व

रूस समर्थक देशद्रोही यूक्रेनियों पर कड़ा एक्शन लेगी सेना, 15 साल से लेकर आजीवन जेल का प्रावधान

यूक्रेन: यूक्रेन पर रूसी आक्रमण का समर्थन करने वाले यूक्रेनियों के खिलाफ सेना कड़ा एक्शन लेने की तैयारी में है। खारकीव में सुरक्षाकर्मी एक अपार्टमेंट में दाखिल हुए हैं। यहां वो विक्टर से मिलते हैं, जो इस वक्त बहुत घबराए हुए हैं। उनके हाथ कांप रहे हैं और वो अपना चेहरा ढकने की कोशिश कर रहे हैं। दरअसल, इस अधेड़ शख्स ने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए रूसी सेना का समर्थन किया था।

विक्टर ने लिखा था कि ‘नाजियों से लड़ने के लिए’ रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का समर्थन करता हूं। साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज को ‘मौत का प्रतीक’ बताया था। विक्टर कहते हैं कि हां, मैंने रूसी सेना का समर्थन किया था। मुझे माफ कर दीजिए। अब मैं बदल चुका हूं। मैं गलत था और मुझे इसका एहसास है।

विक्टर खारकीव क्षेत्र के लगभग 400 लोगों में से एक हैं, जिन्हें यूक्रेन की संसद से शीघ्रता से लागू किए गए सहयोग-विरोधी कानूनों के तहत हिरासत में लिया गया है। रूस के 24 फरवरी के आक्रमण के बाद राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की की ओर से इस कानून को मंजूरी दी गई थी। रूसी सेना के साथ सहयोग करने, रूसी आक्रमण के बारे में सार्वजनिक रूप से इनकार करने या मास्को का समर्थन करने के लिए अपराधियों को 15 साल तक की जेल का सामना करना पड़ता है। कोई भी व्यक्ति जिसके कार्यों से मृत्यु हो सकती है, उसे आजीवन कारावास का सामना करना पड़ सकता है।

जेलेंस्की ने कहा कि सहयोग के लिए जवाबदेही बनती है। यह कल होगा या परसों… एक अलग सवाल है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि न्याय अनिवार्य रूप से दिया जाएगा। हालांकि जेलेंस्की सरकार को व्यापक समर्थन प्राप्त है। यहां तक कि कई रूसी वक्ताओं के बीच भी सपोर्ट हासिल है। बावजूद इसके सभी यूक्रेनियन आक्रमण का विरोध नहीं करते हैं। औद्योगिक क्षेत्र डोनबास के कुछ रूसी भाषी निवासियों के बीच मॉस्को के लिए समर्थन आम है।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button