Close
भारत

SSC Exam: पेपर लीक मामले में आंध्र के 10 शिक्षकों को गिरफ्तार किया गया

नई दिल्ली: राज्य भर में ssc की परीक्षा बुधवार को शुरू हुई और शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन भी गड़बड़ी की खबरें आई हैं। आंध्र प्रदेश के श्री सत्य साईं जिले में पुलिस ने शनिवार को एक सरकारी स्कूल के प्रधानाध्यापक को 10 की परीक्षा का पेपर लीक के आरोप में गिरफ्तार किया, आरोप में गिरफ्तार शिक्षकों की संख्या 10 हो गई। नाला चेरुवु के एक हाई स्कूल के प्रधानाध्यापक विजय कुमार को गंडालपेंटा में मुख्य अधीक्षक माध्यमिक विद्यालय प्रमाणपत्र (एसएससी) परीक्षा के रूप में अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए पेपर लीक करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। जांच में पता चला है कि प्रधानाध्यापक ने शुक्रवार को व्हाट्सएप के जरिए अंग्रेजी के प्रश्नपत्र की कॉपी भेजी थी। पुलिस उससे इस मामले मे पूछताछ कर रही है।

कुरनूल और चित्तूर जिले में पहले दो दिनों में तेलुगु और हिंदी के प्रश्न पत्र भी लीक हुए थे। पुलिस ने नौ शिक्षकों समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। एक कॉर्पोरेट स्कूल के साथ काम करने वाले एक शिक्षक को भी गिरफ्तार किया गया था। शुक्रवार सुबह परीक्षा शुरू होने के आठ मिनट बाद ही अंग्रेजी का पेपर लीक हो गया था। यह पेपर कथित तौर पर श्री सत्य साईं जिले के ओबुलादेवराचेरुवु में एक राजनीतिक दल के एक नेता के व्हाट्सएप ग्रुप पर पोस्ट किया गया था। खबर फैलते ही जिला शिक्षा अधिकारी ने जांच शुरू की।

यह पाया गया कि नल्ला चेवु में एमपीडीओ कार्यालय में कार्यरत एक कनिष्ठ सहायक श्रीनिवास राव ने व्हाट्सएप ग्रुप में प्रश्न पत्र पोस्ट किया गया था जानकारी मिलते ही अधिकारी गंधापेंटा जिला परिषद हाई स्कूल और आसपास की तलाशी शुरू की। उन्होंने विजय कुमार और वाटर बॉय नरेश के सेल फोन जब्त किए। डीईओ और पुलिस की जांच में पता चला कि विजय कुमार ने अपने मोबाइल फोन से परीक्षा के पेपर की तस्वीरें खींची और श्रीनिवास राव को भेज दी। पुलिस ने कहा कि उन्होंने पेपर लीक करने के लिए एक निजी स्कूल प्रबंधन के साथ मिलीभगत की थी।

शिक्षा मंत्री बोत्सा सत्यनारायण ने शुक्रवार को कहा था कि कुछ लोग सरकार को बदनाम करने के लिए गलत सूचना दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि नांदयाल जिले में कोई पेपर लीक नहीं हुआ जबकि श्री सत्य साईं जिले में कथित पेपर लीक की जांच चल रही थी।

Back to top button