Big news App
ट्रेंडिंगमनोरंजन

मां Shweta Tiwari से तुलना करने पर पलक तिवारी का रिएक्शन, बताया उनकी असफल शादी से क्या सीखा?

मुंबई : एक्ट्रेस श्वेता तिवारी की बेटी पलक तिवारी जल्द ही बॉलीवुड में अपना डेब्यू करने को तैयार हैं। 20 साल की पलक फिल्म ‘रोजी: द सैफरन चैप्टर’ में नजर आएंगी जो सच्ची घटनाओं से प्रेरित है। हाल ही में दैनिक भास्कर से खास बातचीत के दौरान, पलक ने अपने प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ से जुड़ी कुछ खास बातें शेयर की हैं। बातों ही बातों में पलक ने कहा कि वो कभी भी अपनी मां श्वेता तिवारी से अपनी तुलना नहीं कर सकती हैं।

पलक कहती हैं, “मैं बचपन से ही एक्टर बनना चाहती थी, यकीन मानिये इसके अलावा मैंने कभी कुछ और करने का सोचा ही नहीं। जब आप एक एस्पाइरिंग एक्टर होते हैं और आपको आपकी पहली फिल्म मिलती है, उससे ज्यादा खुशी की बात कुछ हो ही नहीं सकती है। मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। जब मैं फिल्म ‘रोजी’ के लिए फाइनल हुई, तब मैं खुशी से झूम उठी थी। ये फिल्म 2000 की सच्ची घटना पर आधारित है। फिल्म में मैं एक रूह का किरदार निभा रही हूं, जिसके लिए मैंने कई पुरानी फिल्में देखी। मैंने अभिनेत्री मधुबाला की फिल्म ‘महल’ देखी जिसमें वो एक आत्मा बनी थीं। इतना ही नहीं मैंने मधुबाला के हर काम को देखा क्योंकि मुझे एरा को दिखाना था। मैं मधुबाला जी को अपना आइकन मानती हूं, उनके काम से बहुत प्रोत्साहित हूं।”

शूटिंग के समय पलक को लगता था डर
पलक आगे कहती हैं, “ये फिल्म गुरुग्राम में हुए एक हादसे पर आधारित हैं। हमारी फिल्म भी उसी लोकेशन पर शूट होने वाली थी जहां रोजी रियल लाइफ में रहती थी। हालांकि, लगातार कोरोना के बढ़ते मामले की वजह से वो प्लान कैंसिल हो गया। सच कहूं तो मैं बहुत खुश हो गई थी मैं नहीं चाहती थी कि रोजी की रूह मेरे आस पास भटके। हमने पुणे के पुराने हॉस्टल में शूट किया, फिर मुंबई में इंडोर शूट किए और कुछ पोरशन लखनऊ में शूट किए। शूटिंग के दौरान, कई बार एहसास होता था कि रोजी हमारे आसपास ही है। डर जरूर लगता था, लेकिन कभी इसकी वजह से मैंने काम करना बंद नहीं किया।”

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button