Big news App
भारत

रतन टाटा ने असम में पीएम मोदी की मौजूदगी में किया ऐलान,राज्य में 6 कैंसर अस्पतालों का किया उद्घाटन

नई दिल्ली – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने असम दौरे में गुरुवार को जाने-माने उद्योगपति रतन टाटा के साथ 6 नये कैंसर अस्पतालों का उद्घाटन किया। साथ ही उन्होंने प्रदेश में 7 नये कैंसर अस्पतालों की आधारशिला भी रखी। इस मौके पर डिब्रूगढ़ के खनिकर मैदान में लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि असम ही नहीं, पूरे नॉर्थ ईस्ट में कैंसर एक बहुत बड़ी समस्या रही है। इससे सबसे अधिक प्रभावित हमारा गरीब होता है, मध्यम वर्ग का परिवार होता है। इस परेशानी को दूर करने के लिए बीते 5-6 सालों में यहां कई कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार का फोकस स्वास्थ्य सेवाओं के डिजिटाइजेशन का है। सरकार की कोशिश है कि इलाज के लिए लंबी-लंबी लाइनों से मुक्ति हो और इलाज के नाम पर होने वाले दिक्कतों से मुक्ति मिले। इसके लिए एक के बाद एक कई योजनाएं लागू की गई हैं।

कोरोना महामारी की पहली लहर के दौरान प्रधानमंत्री केयर्स फंड (पीएम केयर्स फंड) में करीब 1500 करोड़ रुपये का योगदान देने वाले देश के प्रमुख उद्योगपति रतन टाटा ने अपने जीवन के आखिरी वर्षों को स्वास्थ्य के लिए समर्पित करने का ऐलान किया है. उन्होंने गुरुवार को असम के डिब्रूगढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कैंसर उपचार केंद्र के उद्घाटन के अवसर पर इस बात की घोषणा की है. इस दौरान उन्होंने हिंदी में दिए गए अपने संबोधन में कहा कि मैं अपने जीवन के अंतिम वर्षों को स्वास्थ्य के लिए समर्पित कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि असम को एक ऐसा राज्य बनाएं, जहां सभी को पहचान और मान्यता प्राप्त हो. टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन रतन टाटा ने आगे कहा- संदेश एक ही होगा। मेरे दिल से निकला हुआ। टाटा ने इसके बाद असम में कैंसर अस्पतालों के उद्घाटन को राज्य के इतिहास का बड़ा दिन बताया। उन्होंने कहा कि हेल्थकेयर और कैंसर के इलाज के क्षेत्र में असम एक पायदान पर खड़ा है। इस दौरान पीएम मोदी टाटा की हर एक बात को बेहद गौर से सुनते हुए दिखाई दिए

रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संक्षिप्त दौरे में यहां असम मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में स्थित केंद्र में सुविधाओं और उपकरणों का निरीक्षण किया. वह शाम को होने वाले एक अन्य कार्यक्रम में छह अन्य ऐसे केंद्रों का डिजिटल तरीके से उद्घाटन करेंगे.ये केंद्र बारपेटा, तेजपुर, जोरहाट, लखीमपुर, कोकराझार और दरांग में हैं. कुछ देर अंग्रेजी में बोलने के बाद टाटा हिंदी में हाथ तंग होने के बावजूद हिंदी में बोलने लगे। उन्होंने टूटी-फूटी हिंदी में कहा, ‘आज असम दुनिया को बता सकता है कि इंडिया का एक छोटा स्टेट कैंसर का इलाज कर सकता है….।’ टाटा ने मोदी का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि मोदी गर्वनमेंट को मैं थैंक्यू बोलता हूं कि वे असम को भूले नहीं…आगे बढ़ेगा। और मैं उम्मीद करता हूं कि यह स्टेट आगे जाएगा। भारत का झंडा और इंडिया फ्लैग.. दिल से यह स्टेट आगे बढ़ेगा।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button