Big news App
विश्व

पीएम राजपक्षे और राष्ट्रपति गोटाबाया को छोड़, श्रीलंकाई कैबिनेट ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली: श्रीलंकाई पीएमओ ने रविवार को एक बयान जारी कर पीएम महिंदा राजपक्षे के इस्तीफे की सभी खबरों का खंडन किया। हालांकि, शिक्षा मंत्री दिनेश गुणवर्धने ने कहा कि राष्ट्रपति गोटाबाया और पीएम महिंदा राजपक्षे को छोड़कर देश के मंत्रिमंडल ने रविवार को देर रात हुई बैठक में सामूहिक रूप से इस्तीफा दे दिया है। देश में जारी संकट के बीच प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति गोतबया राजपक्षे से मुलाकात की। सूत्रों के मुताबिक, बैठक ने पीएम के इस्तीफे की अटकलों को और बल दिया गया।

श्रीलंका के खेल मंत्री नमल राजपक्षे ने ट्विटर पर कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति के सचिव को सभी विभागों से उनके इस्तीफे की सूचना ‘तत्काल प्रभाव’ से दे दी है। श्रीलंका के पूर्व मंत्री विमल वीरावांसा ने भी राष्ट्रपति से मुलाकात की और देश में मौजूदा संकट को हल करने के लिए एक सर्वदलीय अंतरिम सरकार नियुक्त करने का प्रस्ताव रखा। बढ़ती मुद्रास्फीति और कमजोर मुद्रा ने श्रीलंका में बुनियादी वस्तुओं की कीमतें आसमान छू ली हैं। चावल 220 रुपये किलो, मिल्क पाउडर 1900 रुपये किलो: संकटग्रस्त श्रीलंका में सुपरमार्केट में आसमान छू रही है दरें।

एक अभूतपूर्व आर्थिक मंदी के दौर में, द्वीप राष्ट्र में लोग ईंधन, भोजन और दवाइयाँ खरीदने के लिए घंटों कतार में खड़े हैं। कई बार तो कई खाली हाथ ही चले जाते हैं। या तो दुकान का माल खत्म हो गया है, या उनके पैसे खत्म हो गए हैं। संकट के मद्देनजर सरकार के खिलाफ जनता का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। राजधानी सहित देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं, आंदोलनकारियों ने राजपक्षे शासन को आवश्यक वस्तुओं की कमी और लंबे समय तक बिजली की कटौती के लिए दोषी ठहराया है।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button