रूस यूक्रेन युद्धविश्व

यूक्रेन से जंग में पुतिन की आर्मी को हो रहा बड़ा नुकसान! परमाणु हमले का खतरा बढ़ा

रूस: यूक्रेन और रूसी सैनिकों के बीच जंग ने अब खतरनाक मोड़ ले लिया है। हथियारों की कमी से जूझ रहे रूसी सैनिकों ने अब हाइपरसोनिक मिसाइलों का इस्तेमाल शुरू कर दिया है। रूसी सैनिकों को सिर्फ हथियार कम होने ही नहीं अपने लगातार कम होते संख्याबल का डर भी सता रहा है। पश्चिमी देशों को डर है कि अपने सैनिकों की जंग में हो रही लगातार मौत के बीच रूस कभी भी परमाणु हथियारों का इस्तेमाल कर सकता है। उधर, यूक्रेन सरकार का दावा है कि इस जंग में यूक्रेनी सैनिकों ने रूस के दांत खट्टे कर दिए हैं। अब तक इस जंग में रूस के 14700 सैनिकों की मौत हो चुकी है।

रूस और यूक्रेन के बीच जंग का आज 25वां दिन है। शनिवार से रूसी सैनिकों ने यूक्रेन की धरती पर हाइपरसोनिक मिसाइलों से हमला करना शुरू कर दिया है। अब तक रूस इस तरह की दो मिसाइलों का इस्तेमाल कर चुका है। इन मिसाइलों को परमाणु बम ले जाने के लिए भी जाना जाता है। हालांकि रूस ने अभी परमाणु बमों का इस्तेमाल करना शुरू नहीं किया है।

इस बीच यूक्रेन सरकार ने दावा किया है उसके साथ जंग में बड़ी संख्या में रूसी सैनिकों को नुकसान हुआ है। सरकार के दावों के मुताबिक, अब तक रूस के 14700 सैनिक मारे जा चुके है। इसके अलावा 96 एयरक्राफ्ट, 118 हेलिकॉप्टर, 476 टैंक, 21 यूएवी, 1487 सैन्य वाहन और 44 एंटी एयरक्राफ्टों को नष्ट किया जा चुका है।

यूक्रेन और रूस के बीच जंग को 25 दिन हो आए हैं लेकिन अभी तक राजधानी कीव में रूसी सैनिकों का कब्जा नहीं हो पाया है। माना जा रहा है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन जल्द कुछ बड़ा फैसला ले सकते हैं। पश्चिमी देशों को डर है कि पुतिन न्यूक्लियर अटैक का आदेश दे सकते हैं। उनका मानना है कि इस जंग में रूस को भी अपेक्षा से कहीं ज्यादा नुकसान हो रहा है। इसके अलावा उनके पास हथियारों की भी कमी शुरू हो गई है। ऐसे में पुतिन कुछ बड़ा और विश्वसंक निर्णय ले सकते हैं।

परमाणु बमों में पूरी दुनिया पर भारी है रूस
आंकड़ों के मुताबिक रूस के पास 6255 परमाणु बम हैं, जो दुनिया में किसी भी देश से कहीं ज्यादा हैं। जबकि अमेरिका के पास 5550 परमाणु बम हैं। इससे पता चलता है कि परमाणु हथियारों में रूस सबपर भारी है।

Back to top button