रूस यूक्रेन युद्धविश्व

यूक्रेन की मुसीबतें बढ़ी, गृहमंत्री ने कहा जिंदा बम को निष्क्रिय करने में लग जायेंगे कई साल

यूक्रेन : यूक्रेन और रूस के बीच चल रही जंग रुकने का नाम नहीं ले रही है। रूस के हमलों से यूक्रेन में तबाही का मंजर काफी भयानक है। इस युद्ध में संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक यूक्रेन में अब तक कम से कम 816 नागरिकों की जान जा चुकी है। वहीं यूक्रेन के लिए रूस द्वारा छोड़े गए बम नई मुसीबत लेकर आए हैं, यूक्रेन का कहना है कि जो बम नहीं फटे हैं उनको निष्क्रिय करने में सालों लगेंगे। साथ ही रूस को रोकने के लिए यूक्रेनी राष्ट्रपति के सलाहकार ने चीन से रूस पर दबाव बनाने की बात कही है। संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है कि युद्ध की शुरुआत के बाद से यूक्रेन के अंदर लगभग 65 लाख लोग विस्थापित हुए हैं।

यूक्रेन का कहना है कि जो बम नहीं फटे हैं उनको निष्क्रिय करने में सालों लगेंगे। साथ ही रूस को रोकने के लिए यूक्रेनी राष्ट्रपति के सलाहकार ने चीन से रूस पर दबाव बनाने की बात कही है।

रूस के आक्रमण के बाद यूक्रेन को बिना फटे बमों को निष्क्रिय करने में सालों लगेंगे, यूक्रेन के गृहमंत्री ने कहा कि रूस के आक्रमण के बाद यूक्रेन को बिना फटे बमों को निष्क्रिय करने में सालों लगेंगे। यूक्रेन की राजधानी में डेनिस मोनास्टिर्स्की ने कहा कि युद्ध समाप्त होने के बाद देश को इस बड़े पैमाने पर कार्य से निपटने के लिए पश्चिमी सहायता की आवश्यकता होगी।बिना फटे रूसी आयुधों के अलावा, यूक्रेनी सैनिकों ने रूसियों को उनका उपयोग करने से रोकने के लिए पुलों, हवाई अड्डों और अन्य प्रमुख बुनियादी ढांचे पर लैंड माइंस भी लगाए हैं।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेंलेंस्की के सलाहकार एलेक्ज़ेंडर रोडन्स्की ने कहा है कि यूक्रेन को उम्मीद है कि चीन यह महसूस करेगा कि उसे युद्ध समाप्त करने के लिए रूस पर कुछ दबाव डालना चाहिए।

Back to top button