Close
भारत

सर्दियों में उत्तर भारत में सबसे प्रदूषित रहे गाजियाबाद-दिल्ली

नई दिल्ली: सीएसई द्वारा कराए गए सर्वे के अनुसार 2021-22 की सर्दियों में सभी क्षेत्रों में प्रदूषण ने उछाल दर्ज की। सर्वे में सभी क्षेत्रों, पूर्व, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण, मध्य और पूर्वोत्तर को शामिल किया गया।
मौसम विभाग द्वारा जारी हाल ही में जारी एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि सर्दियों में उत्तर भारत में सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर गाजियाबाद रहा है जबकि दूसरे स्थान पर दिल्ली रहा है।

विज्ञान एवं पर्यावरण केंद्र (सीएसई) द्वारा कराए गए ऑल इंडिया विंटर एयर क्वालिटी एनालिसिस के अनुसार 2021-22 की सर्दियों (15 अक्तूबर से 28 फरवरी तक) में सभी क्षेत्रों में प्रदूषण ने उछाल दर्ज की। सर्वे में सभी क्षेत्रों, पूर्व, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण, मध्य और पूर्वोत्तर को शामिल किया गया।

इसके अनुसार, उत्तर क्षेत्र में सबसे प्रदूषित शहर गाजियाबाद रहा जबकि दूसरे स्थान पर दिल्ली रहा। अगले सात स्पॉट एनसीआर के सभी पड़ोसी शहरों ने ले लिए। इनमें फरीदाबाद, मानेसर, बागपत, नोएडा, गुरुग्राम, मेरठ और हापुड़ हैं। इस क्षेत्र में सबसे साफ शहर श्रीनगर रहा जबकि हरियाणा का पलवल, पंजाब का भटिंडा और राजस्थान के अलवर में अपेक्षाकृत कम सर्दी रही।

सूरज के तल्ख होते तेवरों के बीच बुधवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जो कि सीजन का अब तक का सबसे गर्म दिन रहा। सूरज की अधिक तपिश के बीच दिनभर 25 से लेकर 35 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं रिकॉर्ड की गई। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि पूरा सप्ताह मौसम साफ रहेगा व आने वाले दिनों में तपिश बढ़ेगी।

मौसम विभाग के मुताबिक, अधिकतम तापमान सामान्य से चार अधिक व न्यूनतम तापमान सामान्य से पांच अधिक 20.5 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया। दिनभर धूप खिली रही और 25 से लेकर 35 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं रिकॉर्ड की गई। हवा में नमी का स्तर 32 से लेकर 88 फीसदी तक दर्ज किया गया।

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि पूरे सप्ताह मौसम साफ बना रहेगा और धूप की तपिश तेज होगी। अगले 24 घंटे में अधिकतम तापमान 34 व न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया जा सकता है। विभाग के मुताबिक, मौसम साफ होने की वजह से पारा 34 से लेकर 35 डिग्री सेल्सियस बना रहेगा। पूरे सप्ताह हवा की रफ्तार हल्की रहेगी।

Back to top button