Big news App
टेक्नोलॉजीविज्ञान

जानें मृत्यु के बाद किसी व्यक्ति के फेसबुक अकाउंट का क्या होता है?

मुंबई : क्या आपने कभी सोचा है कि आपकी मृत्यु के बाद आपके फेसबुक अकाउंट का क्या होगा? आइए आपको बताते हैं कि फेसबुक के पास आपके लिए क्या खास विकल्प हैं। फेसबुक के पास एक विकल्प है जहां आप अपने यादगार खाते की देखभाल के लिए ‘लिगेसी कॉन्टैक्ट’ चुन सकते हैं या यहां तक कि फेसबुक से खाते को हमेशा के लिए हटा सकते हैं। अगर कोई यूजर अपने अकाउंट को स्थायी रूप से डिलीट नहीं करना चाहता है और जब ऐसे यूजर्स के निधन की खबर फेसबुक तक पहुंचती है तो उस यूजर के अकाउंट को यादगार बना दिया जाता है।

मेमोरियलाइज्ड अकाउंट क्या है?
एक यादगार खाता एक ऐसी जगह है जहां दोस्त और परिवार अपनी यादों को साझा करने और किसी प्रियजन की मृत्यु के बाद अपने प्यार को साझा करने के लिए एक साथ आ सकते हैं। इस यादगार खाते में मृतक के नाम के आगे ‘Remembering’ शब्द लिखा हुआ है। यह इंगित करता है कि उपयोगकर्ता की मृत्यु हो गई है और उसके परिवार और दोस्तों के साथ यादें साझा करने के लिए उसके खाते को मेमोरियलाइज्ड किया गया है।

इस प्रकार के खाते में, व्यक्ति के दोस्तों को विज्ञापन, जन्मदिन रिमाइंडर आदि जैसी कोई सूचना नहीं दिखाई देती है। मेमोरियलाइज्ड अकाउंट में कोई भी लॉग इन नहीं कर सकता है। ऐसे खाते से कोई लीगेसी संपर्क संबद्ध नहीं है, इसलिए ऐसी कोई प्रोफ़ाइल नहीं बदली जा सकती है।

अगर मृत्यु के बाद खाता बंद करना हो तो क्या करना होगा?
यदि कोई व्यक्ति अपनी मृत्यु के बाद अपना फेसबुक अकाउंट हटाना चाहता है, तो उसके पास फेसबुक में एक विकल्प भी है। इस विकल्प को चुनने के बाद जब किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो फेसबुक अकाउंट को डिलीट कर देता है। इस विकल्प को चुनने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया का पालन करें।
1. सबसे पहले फेसबुक के ऊपर दाईं ओर नीचे की ओर दिखने वाले आइकन पर क्लिक करें।
2. इसके बाद Settings and Privacy Options पर क्लिक करें और फिर Settings पर क्लिक करें।
3. इसके बाद मेमोरियलाइजेशन सेटिंग्स पर क्लिक करें।
4. फिर नीचे स्क्रॉल करें और “Request that your account be deleted after you pass away” नाम के विकल्प को चुनें। फिर “Delete after death” पर क्लिक करें।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button