भारतरूस यूक्रेन युद्ध

रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण भारत की आयात क्षमता पर पड़ सकता है असर : रिपोर्ट

नई दिल्ली : यूक्रेन के खिलाफ सैन्य अभियान के बाद रूस पर अमेरिका और यूरोपीय देशों ने कई प्रतिबन्ध लगाए हैं। अब इन प्रतिबंधों का असर भारत की आयात क्षमता पर पड़ सकता है। एक रिपोर्ट में ऐसी आशंका जताते हुए कहा गया है कि इसका सीधा असर भारतीय कंपनियों पर उत्पादन लागत में दबाव के रूप में भी पड़ सकता है।

क्रिसिल ने सोमवार को अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि चालू वित्त वर्ष के पहले नौ महीनों में रूस को भारत से किया जाने वाला निर्यात 2.55 अरब डॉलर पर रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 1.87 अरब डॉलर के निर्यात से 36.1 प्रतिशत अधिक है।

इस रिपोर्ट के अनुसार वित्त वर्ष 2021-22 के शुरूआती नौ महीनों में भारत से यूक्रेन को 37.2 करोड़ डॉलर (0.2 प्रतिशत) का निर्यात किया गया। हालांकि इसी रिपोर्ट में कहा गया है कि इस्पात और एल्युमीनियम जैसे कुछ क्षेत्रों को बढ़ती कीमतों से फायदा भी हो सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की से बात की तथा युद्धग्रस्त देश के सूमी शहर में फंसे भारतीय छात्रों की सुरक्षित एवं त्वरित निकासी पर उनसे मदद मांगी। इसके साथ ही उन्होंने हिंसा को तत्काल समाप्त करने के अपने आह्वान को दोहराया।

Back to top button