Big news App
भारतरूस यूक्रेन युद्धविश्व

Russia and Ukraine War : यूक्रेन पर परमाणु हमला कर सकता है रूस, PM मोदी ने बीच में ही छोड़ा UP दौरा, बुलाई हाई लेवल मीटिंग

नई दिल्ली – यूक्रेन पर रूस का लगातार आक्रमण जारी है. एक रिपोर्ट के मुताबिक रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने रूसी परमाणु निवारण फोर्स को अलर्ट पर रहने का आदेश दिया है. विश्व इतिहास में पिछले कई दशकों से ऐसा नहीं हुआ है, जब किसी देश ने खुले तौर पर परमाणु हमले की धमकी दी हो, लेकिन यूक्रेन पर हमला करने वाले व्लादिमीर पुतिन ने ऐसा किया है.

यूक्रेन पर हमले से पहले ही अपने भाषण में व्लादिमीर पुतिन ने दुनिया के सभी देशों को धमकी दी थी कि यदि उन्होंने दखल देने का प्रयास किया तो फिर उनके पास हथियार भी हैं. पुतिन के इरादों से साफ है कि यूक्रेन में चल रहा युद्ध परमाणु जंग में बदल सकता है. यूक्रेन से युद्ध से पहले राष्ट्रपति पुतिन ने अपने भाषण में कहा था कि आज का रूस दुनिया की सबसे बड़ी परमाणु ताकतों में से एक है. रूस के पास बड़े पैमाने पर हथियार हैं. ऐसे में किसी को भी इस बात का संदेह नहीं रखना चाहिए कि वे दखल देंगे और उनकी हार नहीं होगी. कोई भी हमारे देश पर हमला करता है तो फिर उसे परिणाम भुगतने होंगे. साल 1945 में दूसरे विश्व युद्ध के बाद से अब तक किसी भी देश ने परमाणु हथियारों का इस्तेमाल नहीं किया है. उस समय अमेरिकी राष्ट्रपति हैरी ट्रूमैन ने जापान में परमाणु हथियार गिराए थे, जिसके कारण बड़ी संख्या में लोग मारे गए थे. परमाणु हमले में लगभग 2 लाख से अधिक लोगों की मौत हो गई थी.

इधर यूक्रेन और रूस के बीच जारी जंग को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने उत्तर प्रदेश के दौरे को बीच में ही छोड़ दिया है. दिल्‍ली पहुंचते ही वह यूक्रेन संकट पर हाई लेवल मीटिंग करेंगे. बता दें कि दोनों देशों के बीच पिछले चार दिनों से जंग जारी है. रूस और यूक्रेन के बीच गुरुवार को युद्ध की शुरुआत हुई थी. इसके बाद से ही रूस की सेना यूक्रेन (Ukraine) में लगातार अंदर की ओर बढ़ती जा रही है. रूस ने यूक्रेन के 471 सैनिकों को गिरफ्तार करने का दावा भी किया है. इसके अलावा, रूसी सेना (Russian Army) ने कहा है कि उसके यूक्रेन के 975 सैन्य बुनियादी ढांचों को तबाह किया है.

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button