Big news App
भारतराजनीति

Bihar में सीएम नीतीश कुमार कराएंगे जातीय जनगणना

पटना – बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को एक बार फिर दोहराया कि अगर देश भर में जातीय जनगणना नहीं हो पा रही तो राज्य में हम लोग इसे कराएंगे। उन्होंने पांच राज्यों में चुनाव के बाद सर्वदलीय बैठक कर इसे शुरू करने के भी संकेत दिए। नीतीश कुमार जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद कहा कि जातीय जनगणना निश्चित रूप से हमलोग कराना चाहते हैं।

जातीय जनगणना को लेकर सर्वदलीय बैठक के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हमलोग एक मत के हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि निश्चित रूप से हमलोग राज्य सरकार की तरफ से जातीय जनगणना करना चाहते हैं। इससे पहले सर्वदलीय बैठक हो जाए, जिससे सबका मत सामने आ जाए। जातीय जनगणना को कैसे बेहतर ढंग से किया जा सकता है, इस पर भी विचार हो रहा है।

देशभर में अगर नहीं हो रहा है तो राज्य में हमलोग इसे कराएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी कई राज्यों में चुनाव चल रहा है, उसको खत्म हो जाने दीजिए। हम लोग एकबार बैठकर इस पर विचार करके जातीय जनगणना को शुरू करा देंगे। बिहार के जमुई में स्वर्ण भंडार मिलने से बिहार को ज्यादा रॉयल्टी मिलने से जुड़े सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बहुत खुशी की बात है। जिन ऐतिहासिक स्थलों के बारे में पता चला है वहां जाकर हमलोग उसके संबंध में जानकारी लेते हैं। बिहार में कई ऐसी जगहें हैं जहां पर कई सारी चीजें हैं। उन्होंने कहा कि बिहार भारत का ही नहीं बल्कि दुनिया के पौराणिक जगहों में से एक है।

भोजपुरी को राज्य सरकार की ओर से प्राइमरी एजुकेशन में शामिल करने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा विभाग इस पर गौर करेगा। भोजपुरी सिर्फ बिहार की ही नहीं है, यह यूपी और झारखंड में भी बोली जानेवाली भाषा है। भोजपुरी का बड़ा एरिया है, इसका अंतरराष्ट्रीय महत्व भी है। उन्होंने कहा कि अभी झारखंड में जो हुआ वो बहुत गलत है। बिहार, झारखंड एक था तो यह भाषा कई जिलों में बोली जाती थी।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button