Big news App
खेल

Virat Kohli के बाद अब ये 3 खिलाड़ी हैं टेस्ट कप्तानी के नए दावेदार

मुंबई – भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान विराट कोहली Virat Kohli ने शनिवार को अचानक टेस्ट टीम से कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर सभी को हैरान कर दिया. इससे पहले बीते साल नवंबर में उन्होंने टी20 फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ी थी. बीसीसीआई BCCI ने सीमित ओवरों के फॉर्मेट में एक ही कप्तान रखने के मकसद से उनसे वनडे टीम की कमान भी छीन ली. लेकिन, फिलहाल टेस्ट फॉर्मेट में कप्तान बदलने का उनका कोई इरादा नहीं था. लेकिन हमेशा अपने फैसलों से हैरान करने वाले विराट ने इस बार टेस्ट टीम कप्तानी छोड़कर सभी को हैरान कर दिया.

Rohit Sharma – रोहित ने आईपीएल में अपनी कप्तानी का डंका खूब बजाया है. वह इस लीग में सबसे ज्यादा रिकॉर्ड 5 खिताब जीतने वाले कप्तान हैं. सीमित ओवरों के फॉर्मेट में वह लंबे समय से विराट कोहली के साथ उपकप्तानी में अपनी भूमिका निभा रहे थे. रोहित शर्मा को साउथ अफ्रीका सीरीज से पहले अजिंक्य रहाणे Ajinkya Rahane से उपकप्तानी छीनकर टेस्ट टीम का भी उपकप्तान बनाया गया. हालांकि रोहित Rohit Sharma चोटिल होने के कारण इस दौरे का हिस्सा नहीं बन पाए. लेकिन उपकप्तानी मिलने के बाद उनके बहुत हद तक चांस हैं कि उन्हें यह जिम्मेदारी मिल सकती है.

KL Rahul – युवा बल्लेबाज KL Rahul बीते कुछ समय से भारतीय टीम के लिए हर पॉजिशन पर तैयार नजर आ रहे हैं. उन्होंने सीमित ओवरों में टीम इंडिया के लिए विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी भी संभाली है, जबकि वह तीनों ही फॉर्मेट में वह किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी के लिए तैयार दिखते हैं. हाल ही में वह टेस्ट, टी20 और वनडे तीनों फॉर्मेट में सेट हो चुके हैं और भारत के लिए उपयोगी पारियां खेल रहे हैं.

राहुल KL Rahul को रोहित शर्मा Rohit Sharma के साथ सीमित ओवरों का उपकप्तान भी बनाया गया है, जबकि रोहित साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज से बाहर हुए तो भी चयनकर्ताओं ने उपकप्तानी का जिम्मा उन्हें ही दिया. उन्हें भविष्य के कप्तान के तौर पर देखा जा रहा है. ऐसे में बीसीसीआई और चयनकर्ता मिलकर राहुल के बारे में सोच सकते हैं.

Ajinkya Rahane – अजिंक्य रहाणे साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज से पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली घरेलू सीरज तक उपकप्तान थे. उन्होंने विराट Virat Kohli की गैर मौजदूगी में पहले टेस्ट में कप्तानी भी की. लेकिन लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे रहाणे से चयनकर्ताओं साउथ अफ्रीकी दौरे के लिए उपकप्तानी छीन ली. लेकिन विराट के कप्तानी छोड़ने के बाद टीम के सामने एक परिपक्व कप्तान चुनने का सवाल खड़ा हो सकता है. ऐसे में रहाणे को यहां वापसी का चांस मिल सकता है.

रहाणे ने अपनी कप्तानी में साल 202021 में ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में तब मात देने का काम किया, जब भारतीय टीम 4 टेस्ट की सीरीज में पहले टेस्ट के बाद 01 से पीछे थी. इसके अलावा अब तक 6 टेस्ट में कप्तानी कर चुके रहाणे आज तक कोई टेस्ट मैच नहीं हारे हैं. उन्होंने कप्तानी के अपने छोटे से करियर में 2 टेस्ट ड्रॉ जरूर खेले हैं, बाकी में उन्हें जीत नसीब हुई है. अगर सिलेक्टर्स रहाणे को एक और मौका देने को तैयार होते हैं तो यहां उनके डूबते दिख रहे करियर को सहारा मिल सकता है.

रहाणे के खिलाफ जो बात जा रही है वह उनकी लगातार खराब फॉर्म. रहाणे लंबे समय से रन नहीं बना पा रहे हैं. आलोचक लगातार यह सवाल पूछ रहे हैं कि आखिर टीम में उनकी जगह क्यों बनी हुई है. अगर रहाणे का फॉर्म खराब न हुआ होता तो वह उपकप्तान ही रहते और विराट के कप्तानी छोड़ने के बाद नए टेस्ट कप्तान को लेकर शायद इतनी जिज्ञासाएं ही नहीं होतीं और 33 वर्षीय रहाणे ही उनके उत्तराधिकारी होते.

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button