भारतराजनीति

साइना नेहवाल पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर सिद्धार्थ के खिलाफ केस दर्ज करने की उठी माँग

नई दिल्ली – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को पंजाब के फिरोजपुर में रैली को संबोधित करने जा रहे थे। जहां अचानक रैली का कार्यक्रम रद्द हो जाने के चलते पीएम का काफिला वापस लौट रहा था। तभी हुसैनीवाला में दूसरी तरफ से प्रदर्शनकारी किसानों के अचानक आ जाने से पीएम का काफिला एक फ्लाई ओवर पर करीब 20 मिनट तक रुका रहा। इसके बाद पंजाब सरकार और पुलिस संकट के दायरे में फस्ती जा रही है।

बीजेपी नेता सायना नेहवाल ने इस घटना के बाद ट्विटर पर ट्वीट किया था की अगर प्रधानमंत्री की सुरक्षा से ही समझौता किया जाए तो वह देश तो वह देश अपने आप को सुरक्षित नहीं कह सकता है। पंजाब की घटना की मैं कड़े शब्दों में निंदा करती हूं। सायना नेहवाल के इसी ट्वीट पर एक्टर सिद्धार्थ ने ट्वीट किया था। उन्होंने द्विअर्थी शब्दों का प्रयोग किया और आगे लिखा कि शेम ऑन यू रिहाना। इसके बाद इस पर विवाद खड़ा हो गया। एक्टर सिद्धार्थ के इस ट्वीट पर लोगों ने आपत्ति जताई और महिला आयोग को इसकी शिकायत की।

राष्ट्रीय बैटमिंटन खिलाड़ी व बीजेपी नेता सायना नेहवाल के ट्वीट पर बॉलीवुड और साउथ फिल्मों के एक्टर सिद्धार्थ ने आपत्तिजनक ट्ववीट किया। जिसके बाद वह विवादों के घेरे में फसते जा रहे है। मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने संज्ञान लेते हुए सिद्धार्थ पर FIR दर्ज करने का आदेश दिया है। NCW ने ट्विटर को इस ट्वीट को हटाने के लिए और एक्टर पर कार्रवाई करने के लिए भी कहा है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने महाराष्ट्र के DGP से इस मामले की तुरंत जांच और FIR करने के लिए कहा है। आयोग ने ट्विटर इंडिया को पत्र लिखकर एक्टर के ट्वीट को बैन करने की मांग की है। साथ ही उनके बयान को शर्मनाक भी बताया है।

सायना ने साल 2020 में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का थामन थामा था। सिद्धार्थ ने साउथ की फिल्मों के साथ ही बॉलीवुड की फिल्मों में भी काम किया है। सिद्धार्थ हिट फिल्म ‘रंग दे बसंती’ में नजर आए थे। सिद्धार्थ सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहते है। साइना नेहवाल देश की जानी मानी बैटमिंटन खिलाड़ी है। उन्होंने 2012 ओलिंपिक में कांस्य पदक विजेता, 2015 वर्ल्ड चैम्पियनशिप में रजत और 2017 में कांस्य पदक विजेता रह चुकी है।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button