बिजनेस

1 फरवरी से SBI के ग्राहकों को GST के साथ देना पड़ेगा ये चार्ज

मुंबई – भारत की सबसे बड़ी सार्वजनिक बैंक SBI के ग्राहको के लिए इस जानकारी को जानना बेहद जरूरी है। रिजर्व बैंक ने 1 जनवरी से ATM से पैसे निकालने की मुफ्त सीमा के बाद ट्रांजेक्शन फीस में बढ़ोतरी कर दी है। वहीं अब भारतीय स्टेट बैंक ने 1 फरवरी 2022 से एक और चार्ज बढ़ाने की तैयारी कर ली है। अगर आपका भी खाता भारतीय स्टेट बैंक में है तो आपको झटका लग सकता है।

SBI की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी की गयी जानकारी के मुताबिक पैसा ट्रांसफर के लिए तत्काल भुगतान सेवा की लिमिट को अपने बैंकों के शाखाओं में बढ़ा दिया है। 1 फरवरी 2022 से तत्काल भुगतान सेवा ट्रांजैक्शन के लिए एक नया स्लैब जोड़ा गया है। यह स्लैब दो लाख रुपये से पांच लाख रुपये का है। तत्काल भुगतान सेवा के जरिए इस रकम के बीच पैसा ट्रांसफर करने पर चार्ज ₹20 + GST लगेगा। बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक ने 2021 के अक्टूबर में तत्काल भुगतान सेवा (IMPS) के माध्यम से ट्रांजैक्शन की जाने वाली राशि की सीमा को दो लाख रुपये से बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दिया था।

इमीडिएट मोबाइल पेमेंट सर्विस या तत्काल भुगतान सेवा को IMPS कहते है। सरल शब्दों में कहें तो IMPS के जरिए किसी भी खाता धारकों को कहीं भी कभी भी पैसे भेज सकते है। इसमें पैसा भेजने के समय को लेकर कोई पाबंदी नहीं है। सप्ताह के सातों दिन, 24 घंटे कभी भी आइएमपीएस के जरिए कुछ सेकंड में पैसे ट्रांसफर कर सकते है। इसे भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम के द्वारा संभाला जाता है। इसमें फंड ट्रांसफर करने से पैसा बहुत जल्द ट्रांसफर हो जाता है। तत्काल भुगतान सेवा साल भर 24 घंटे उपलब्ध रहता है। दूसरी ओर अगर बात करें तो NEFT और RTGS द्वारा ये सुविधाएं नहीं दी जाती है।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button