Big news App
भारतराजनीति

जानिए पंजाब के नए मंत्रिमंडल के बारे में किसकी हुई वापसी और कौन हुआ बाहर

पंजाब – पंजाब के नए मंत्री आज शपथ लेंगे। रविवार शाम 4.30 बजे चंडीगढ़ में शपथग्रहण समारोह रखा गया है। हालांकि, इससे पहले ही बड़ी खबर आ रही है कि कुलजीत नागरा को मंत्री नहीं बनाया जाएगा। उनकी जगह अमलोह से विधायक काका रणदीप नाभा मंत्री बनाया जा रहा है।

नए मंत्रिमंडल में शामिल राणा गुरजीत के नाम का विरोध तेज हो गया है। पंजाब के दोआबा क्षेत्र के विधायकों ने इसका विरोध किया है। राणा गुरजीत कैप्टन सरकार की कैबिनेट में थे। तब उनकी रेत खनन में भूमिका के आरोप लगे थे। फिर राहुल गांधी की मंजूरी के बाद कैप्टन ने राणा का इस्तीफा लिया था।

इन मंत्रियों की वापसी
पंजाब मंत्रिमंडल में मनप्रीत बादल, विजयइंद्र सिंगला, रजिया सुल्ताना, ब्रह्म मोहिंदरा, अरुणा चौधरी, भारत भूषण आशु, तृप्त राजिंदर बाजवा और सुख सरकारिया की वापसी हो रही है।

नए मंत्रियों में यह शामिल
मंत्री पद पाने वालों में राजकुमार वेरका, परगट सिंह, संगत गिलजियां, गुरकीरत कोटली, काका रणदीप नाभा, राणा गुरजीत और अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग शामिल हैं।

इन 5 मंत्रियों की छुट्‌टी
कैप्टन की कैबिनेट से साधु सिंह धर्मसोत, बलवीर सिद्धू, राणा गुरमीत सोढ़ी, गुरप्रीत कांगड़ और सुंदर शाम अरोड़ा को नई कैबिनेट में जगह नहीं मिली है।

अब राहुल गांधी की अगुवाई में चले मंथन में राणा की वापसी को लेकर कांग्रेस पर सवाल खड़े हो रहे हैं। आम आदमी पार्टी के विपक्षी दल नेता हरपाल चीमा ने भी राणा गुरजीत को लेकर कांग्रेस को घेरा है। उन्होंने कहा कि जिस नेता पर भ्रष्टाचार के आरोप थे, उसे कैबिनेट मंत्री बनाकर कांग्रेस क्या संदेश देना चाहती है।

बगावत के बाद एंटी कैप्टन खेमा अमरिंदर सिंह को कुर्सी से हटाने में कामयाब रहा। राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री पद तक नवजोत सिंह सिद्धू और चरणजीत चन्नी के साथ मंथन किया। अब इन्हें नई टीम दे दी गई है। अब दोनों पर ही आगे मुद्दे हल करने का दबाव रहेगा। अब पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 में करीब 3 महीने का वक्त बचा है। ऐसे में कांग्रेस का CM व मंत्री बदलना सियासी दांव रह जाएगा या फिर पंजाब का भला होगा, यह इन दोनों की परफॉर्मेंस पर निर्भर करेगा।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button