Big news App
ट्रेंडिंग

ये क्या! अचानक नदी में बहने लगे 200 और 500 के नोट

मुंबई – आज की महंगाई की दुनिया में पैसा ही सब कुछ है। इसे पाने के लिए मनुष्य कोई भी कार्य कर सकता है। यदि आप जीवन में पैदा नहीं हुए हैं, तो बहुत सी चीजें अटक जाती हैं। ज्यादा से ज्यादा पैसा होना हर किसी का सपना होता है। फिर कोई इसके लिए मेहनत करता है तो कोई शॉर्टकट का रास्ता अपनाता है। वहीं कुछ लोग भाग्य के इतने धनी होते हैं कि उन्हें भाग्य के आधार पर धन की प्राप्ति होती है।

वैसे कहा जाता है कि पैसे पेड़ों पर नहीं उगते और न आसमान से टपकते हैं। इसे कमाने में बहुत मेहनत लगती है। लेकिन क्या होगा अगर आप पैसे को नदी में बहते हुए देखें? निश्चित रूप से आप में से बहुत से लोग नदी में धन को बहते हुए देखेंगे और उसे लूटने के लिए कूदेंगे। आप में से कोई भी इस मौके को गंवाना नहीं चाहेगा। ऐसा ही नजारा राजस्थान के अजमेर शहर में देखने को मिला।

दरअसल, रविवार को अजमेर की अंसागर झील में 200 और 500 रुपये के नोट तैरते हुए मिले। लोगों ने यह नजारा देखा तो इसे लूटने के लिए वहां भारी भीड़ जमा हो गई। लोग बिना सोचे समझे नदी में कूद पड़े। हर कोई ज्यादा से ज्यादा नोट लेने की कोशिश कर रहा था। हद तो तब हो गई जब मनपा के कर्मचारी भी खुद को नहीं रोक पाए। जब उन्हें इस बात का पता चला तो वे भी नदी में नाव लेकर पैसे लूटने चले गए।

इसी दौरान किसी ने घटना की सूचना पुलिस को दी। ऐसे में पुलिस वहां पहुंची और लाठियों से लोगों को खदेड़ने लगी. उन्होंने नगर निगम के कर्मचारियों से पैसे भी लिए। इसके अलावा नदी में पैसा भी उसके पास जमा था। ऐसे में अब सवाल उठता है कि 200 और 500 के इतने नोट नदी में कैसे आए? ये पैसा आसमान से उतरा है या कुछ और? पुलिस ने जब उसकी जांच शुरू की तो उसे एक अहम बात पता चली।

"हमने एक आदमी को नोटों से भरा बैग झील में फेंकते देखा," मौजूद एक व्यक्ति ने कहा। उसने बैग को झील में फेंक दिया और भाग गया। इसके बाद बैग में रखे रुपए लूटने के लिए लोग कूद पड़े। स्थानीय लोगों के बयान के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। वह अब यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि किसी अजनबी ने नोटों का थैला नदी में क्यों फेंका। इसके पीछे क्या कारण था।

पुलिस को शक है कि युवक के घर पर छापेमारी की गई होगी। इस बारे में उन्हें पहले ही बता देना चाहिए था। इसलिए उसने बैग को नदी में फेंक दिया। छापेमारी के दौरान या उससे पहले लोग अक्सर अपना पैसा इस तरह रखते हैं। हालांकि इस मामले में अभी तक कोई पुख्ता सबूत नहीं मिल पाया है। नोटों से भरा बैग किसने नदी में फेंका, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button