Big news App
भारत

Jammu Kashmir : सैयद अली शाह गिलानी का निधन, घाटी में लगाए गए प्रतिबंध, इंटरनेट बंद

श्रीनगर – अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी का निधन हो गया है। गिलानी के निधन के बाद मस्जिदों से लाउडस्पीकर के जरिए उनके समर्थन में नारे लगाए गए और उनके निधन की खबर की घोषणा की गई। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए संवेदनशील जगहों पर सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है. किसी तरह के अफवाहों को रोकने के लिए पुलिस ने एहतियात के रूप में इंटरनेट को भी बंद किया है।

पुलिस ने बताया कि कश्मीर में कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लगाए गए हैं। गिलानी के घर के आसपास भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है और जाने वाले रास्तों को सील कर दिया गया है। किसी को भी वहां जाने की अनुमति नहीं दी गई। प्रतिबंधित जमात-ए-इस्लामी के सदस्य और हुर्रियत कांफ्रेंस के कट्टरपंथी धड़े के अध्यक्ष गिलानी पिछले दो दशक से विभिन्न बीमारियों से पीड़ित थे। वह तीन बार विधायक भी रह चुके थे। 92 साल के गिलानी की पिछले तीन दशकों से भी ज्यादा समय से जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी आंदोलन में मुख्य भूमिका रही। उनके परिवार के एक सदस्य के मुताबिक, बुधवार रात करीब 10:30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने उनके निधन पर शोक जताया और ट्वीट कर कहा, “गिलानी साहब के निधन की खबर से दुखी हूं। ज्यादातर बातों पर हमारे बीच सहमति नहीं थी, लेकिन मैं उनकी दृढ़ता और अपने विश्वासों के साथ खड़े होने के लिए उनका सम्मान करती हूं। अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दें और उनके परिवार और शुभचिंतकों को सांत्वना दें।”

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button