Big news App
भारतविश्व

अल-कायदा ने तालिबान की ‘जीत’ का मनाया जश्न, बोले- अब कश्मीर होगा अगला टारगेट

नई दिल्ली – अब जब अफगानिस्तान को तालिबान ने अमेरिकी कब्जे से मुक्त कर दिया गया है। तब आतंकवादी संगठन अल कायदा (Al Qaeda) ने वैश्विक मुस्लिम समुदाय से अन्य मुस्लिम क्षेत्रों को भी मुक्त करने का आह्वान किया है। कश्मीर को वैश्विक जिहाद के अगले लक्ष्यों की लिस्ट में डाल दिया है, लेकिन शिनजियांग को छोड़ दिया है।

रूस में चीन और चेचन्या को इसमें शामिल किया गया है। अमेरिका पर तालिबान की जीत पर गर्व मनाते हुए, वैश्विक आतंकवादी समूह ने संघर्ष के अगले चरण को शुरू करने का आह्वान किया, जिसके लिए विद्रोही अफगान राष्ट्र की जीत ने मार्ग प्रशस्त किया है। कश्मीर के अलावा इसने लेवेंट या भूमध्यसागरीय स्वाथ को शॉर्टलिस्ट किया जिसमें इराक, सीरिया, जॉर्डन और लेबनान शामिल थे। इस्लामिक माघरेब या उत्तर पश्चिमी अफ्रीका का क्षेत्र जिसमें लीबिया, मोरक्को, अल्जीरिया, मॉरिटानिया, ट्यूनीशिया और सोमालिया शामिल हैं और यमन इसकी प्राथमिकताओं के रूप में है।

आधिकारिक मीडिया आउटलेट अस-साहब ने कहा “अल्लाह की मदद से, यह ऐतिहासिक जीत मुस्लिम जनता के लिए उन अत्याचारियों के निरंकुश शासन से मुक्ति पाने का रास्ता खोल देगी, जिन्हें पश्चिम ने इस्लामी दुनिया पर थोपा है। लक्ष्यों की लिस्ट में कश्मीर का प्रमुख स्थान है। पिछली बार अल-कायदा द्वारा कश्मीर का उल्लेख अपने जम्मू-कश्मीर आउटलेट, अंसार गजवतुल हिंद के शुभारंभ के दौरान किया गया था, जिसका उद्देश्य इस्लाम के लिए भारत को फिर से जीतना था। शिनजियांग और चेचन्या को इस लिस्ट में नहीं रखा गया है। दोनों ही जगहों पर मुसलमानों पर कथित अत्याचार किए गए, प्रकृति में अधिक राजनीतिक माना जाता है। चीन और रूस हाल के महीनों में तालिबान का समर्थन करने के लिए सामने आए हैं।

अल-कायदा का प्रमुख नेतृत्व पाकिस्तान में रहता है, जिसका प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी होता है और जैसा कि बयान से यह स्पष्ट होता है, अपने मेजबान-पाकिस्तानी सरकार की राजनीतिक अनिवार्यताओं के प्रति संवेदनशील रहता है।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button