Close
भारत

जम्मू-कश्मीर में आतंकी संगठन ISIS की दस्तक, 3 आतंकी गिरफ्तार

श्रीनगर – जम्मू-कश्मीर में प्रतिबंधित आतंकवादी समूह आईएसआईएस के होने के सबूत हाथ लगे हैं। सोमवार को इसके संस्थापक सदस्यों में से एक कासिम खुरासानी और उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार किया गया है। जिसके बाद भारतीय खुफिया एजेंसी के सामने ISIS का केंद्र शासित प्रदेश में होने का खुलासा हुआ है। भारतीय खुफिया एजेंसी पिछले एक साल से उनकी गतिविधियों पर कड़ी नजर रख रही है।

अप्रैल 2020 में जम्मू-कश्मीर में आईएसआईएस मॉड्यूल के संस्थापक सदस्यों में से एक, उमर निसार भट उर्फ कासिम खोरासानी, जो वहां आईएस कैडरों की भर्ती में भी शामिल था, की पहचान भारतीय खुफिया एजेंसियों द्वारा एक मैसेजिंग ऐप पर की गई थी। खोरासानी के बारे में पहले यह माना जाता था कि वह अफगानिस्तान के खुरासान में है, लेकिन बाद में वह भारतीय और विदेशी एजेंसियों की मदद से अनंतनाग जिले के एक छोटे से शहर अचबल में स्थित पाया गया, जहां वह टेलीग्राम पर अपने समूह के सदस्यों के साथ पत्रिका स्वात अल-हिंद (वॉयस ऑफ इंडिया) के प्रोडक्शन और सर्कुलेशन के बारे में बातचीत कर रहा था।

विलायत अल-हिंद के जरिए आतंकी संगठन ने गजवा-ए-हिंद का भी आह्वान किया, जिसका अर्थ है ‘भारत के खिलाफ पवित्र युद्ध’ | गजवा-ए-हिंद के मुताबिक, सीरिया से काले झंडे के साथ आतंकियों की सेना भारत की ओर मार्च करेगी और देश को जीतकर इस्लामिक राज्य में बदल देगी। इसने इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड द लेवेंट – खुरासान (ISKP) के संचालकों की अगुवाई में फरवरी 2020 में स्वात अल-हिंद (वॉयस ऑफ इंडिया) पत्रिका शुरू की।

Back to top button